हरयाणा के पंचकुला की हिंसा का ज़िम्मेदार राम रहीम इस समय जेल में है और उसके अंधभक्त धीरे-धीरे नींद से उठ रहे हैं लेकिन ऐसे में कई बार खट्टर सरकार पर यह आरोप लगा था कि बीजेपी सरकार ने राम रहीम को शय दी है. आपको बता दें हाल ही में हरयाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर आप की अदालत में आए थे और उन्होंने वहां कई बड़े खुलासे किये हैं.

आपको बता दें आप की अदालत में सीएम खट्टर से यह सवाल हुआ था कि सरकार ने 2014 में राम रहीम का समर्थन लिया था ? सीएम ने इस सवाल के जवाब में कहा था कि हाँ, यह सच है कि हमने 2014 में राम रहीम का समर्थन लिया था लेकिन राम रहीम 1990 में ही डेरा चीफ बन गया था और तबसे 2009 तक, हरियाणा में हुए कुल 8 चुनावों में डेरा ने कांग्रेस का सपोर्ट किया था.

source

खट्टर ने कहा, ‘ठीक है, 2014 में राम रहीम ने हमारा सपोर्ट किया, लेकिन राम रहीम तो डेरे के प्रमुख बने थे 1990 में. 1990 से लेकर के 2014 तक कितने इलेक्शन आए। 1991, 1996, 1998 में आया. 1999, 2000 में आया फिर इलेक्शन 2004, 2005, 2009 में आया. 2014 से पहले 8 इलेक्शन आए, इनमें राम रहीम ने किसको सपोर्ट किया वो नहीं उठाएंगे? आज भी पंजाब में कांग्रेस के नेताओं के साथ उनके संबंध उजागर हैं। पत्रकार, जिसके मर्डर का दोषी राम रहीम है, उसके बेटे ने कहा कि अमरिंदर सिंह की पत्नी का प्रेशर था जिसके कारण हम इसे आगे नहीं बढ़ा पाए.’ डेरा को पैसे देने के सवाल पर खट्टर ने कहा, ‘जो पैसे भी दिए गए वो 2016 और 2017 की शुरुआत के हैं। बाद 2017 का जो पैसा है, वो अभी गया नहीं, उनको मंत्रियों ने रोक दिया है.’