मामला जैसे-जैसे संगीन होते जा रहा है वैसे-वैसे ही इस मामले में हो रहे खुलासे एक के बाद एक हो रहे खुलासे हैरान कर देने वाले हैं. ऐसे में हाल ही में रेयान इंटरनेशनल स्कूल में सात साल के मासूम की मौत के आरोप में गिरफ्तार बस कंडेक्टर अशोक को पुलिस ने स्कूल ले जाकर सीन रि-क्रियेट कराया, जिसमें अशोक ने दोबारा से पूरी घटना को दोहराया. वही बाथरूम जहाँ मासूम प्रद्युमन को हमेशा के लिए खामोश कर दिया गया, वही चाकू जिसने प्रद्युम्न को खामोश किया. सब वही बस मकसद अलग था.

source

जानकारी के लिए बता दें कि आरोपी अशोक के साथ एसएचओ सोहना मुकेश कुमार की टीम और एफएसएल टीम मौजूद थे. इस समय हर चीज़ पर बारीकी से नज़र राखी जा रही थी कि आखिर बच्चे की हत्या करने के बाद कैसे खून के धब्बे कहा तक पहुंचे और अशोक बाहर कैसे गया? बताया जा रहा है कि इन सब बातों पर पुलिस ने अशोक के साथ एक घटें तक किया सीन रि-क्रियेट जिसके बाद एक बार फिर अशोक को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

source

दरअसल मंगलवार को अशोक का रिमांड खत्म होने पर उसे कोर्ट में पेश किया गया. हालाँकि इसके बाद उसे फिलहाल न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है और बताया जा रहा है कि अशोक को 18 सितंबर को गुरुग्राम के स्पेशल कोर्ट में पेश किया जाएगा. सीन रि-क्रियेट के दौरान और वारदात के बाद  एफएसएल टीम  ने वैज्ञानिक तरीके जांच की है. सीन रे-क्रिएट करने के दौरान एफएसएल टीम ने फोटो, फिंगरप्रिंट,कंपास और डिग्री के आधार पर जांच की गई  है. आरोपी ने वारदात के दौरान कहा खड़ा था ,कितने फोर्स से हमला किया और वह कहां से फरार हुआ बताया जा रहा है कि इन सभी की जांच के बाद एफएसएल टीत चार्ज शीट दाखिल होने से पहले शुक्रवार को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी.