देश में फर्जी बाबाओं की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. आसाराम बापू और गुरमीत राम रहीम जैसे बाबाओं के पकड़े जाने के बाद अखाड़ा परिषद ने फर्जी बाबाओं की सूची तक जारी कर दी. जिसके बाद देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लोगों से अपील की थी कि आप सभी ऐसे फर्जी बाबाओं के लपेटे में न आये. दुष्कर्मी बाबाओं की चर्चा के बीच छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा के एक कंबल बाबा के चक्कर में पड़ने की खबर खूब फ़ैल रही है.

Source

आपकी जानकरी को बता दें कि मंत्री रामसेवक बाबा से इलाज कराने को लेकर सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं. मंत्री अपने विधानसभा क्षेत्र के दौरे के दौरान कंबल वाले बाबा से शुगर की दावा लेते नजर आये हैं. उनकी यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद लोग तरह-तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं.

Source

अब गृहमंत्री के बाबा से मिलने पर अहम सवाल यह उठ रहा है कि क्या गृहमंत्री अंधविश्वास को बढ़ावा देकर अपनी ही सरकार की स्वास्थ्य सुविधाओं पर भरोसा नहीं कर रहे हैं? गृहमंत्री ने स्पष्ट किया है कि वह क्षेत्र का दौरा कर रहे थे तभी कार्यकर्ताओं द्वारा दी गयी जानकारी के बाद वह बाबा के पास गए थे.

Source

गौरतलब है कि सोमवार को छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा वाड्रफनगर क्षेत्र के दौरे पर निकले हुए थे. उसी समय उन्हें जानकारी दी गयी कि ग्राम पंचायत स्याही व पंडरी में बीते तीन सप्ताह से एक कंबल वाले बाबा लोगों का इलाज कर रहे हैं. ऐसा दावा किया जा रहा है कि बाबा कंबल ओढ़ाकर मरीजों का उपचार करते हैं. बताया गया कि लकवा तक के मरीजों को बाबा ठीक कर रहे हैं. बाबा के पास शुगर का भी इलाज है ऐसा सुनने के बाद रामसेवक पैकरा गाँव स्याही में लगे कंबल वाले बाबा के ठिकाने पर अपना इलाज कराने पहुंच गए. बाबा से उपचार के दौरान उनकी यह तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो गयी. लोगों के लिए पूरे दिन यह चर्चा का विषय बन गया. बता दें कि बाबा ने गृहमंत्री को दवा के रूप में शक्कर दी.