योगी आदित्यनाथ तो बचपन से अपने परिवार अलग रहते हैं सालों सालों तक अपने परिवार के सदस्यों से मुलाकात नही करते हैं. उनके परिवार की उस समय खूब चर्चा हुए थी जब योगी के मुख्यमंत्री बनने का एलान हुआ था. रक्षा बंधन के मौके पर भी मीडिया में दिखाया गया था कि उस मौके पर योगी आदित्यनाथ अपनी बहन से मुलाक़ात नही कर पाए थे. ऐसे में उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के बॉर्डर पर एक कार्यक्रम में पहुंचे योगी आदित्य नाथ एक ऐसे शख्स मिलने पहुंचा था जिसे देखकर मुख्यमंत्री की आँखे भर आयीं.

Source

आपको बता दें नजीबाबाद में एक आधिकारिक दौरे पर गए मुख्‍यमंत्री आदित्‍य नाथ योगी को आश्‍चर्य तब हुआ जब उन्हें  पता चला कि उनसे मिलने के लिए उनके पिता जी आये हैं. योगी आदित्यनाथ से उनके पिता आनंद सिंह विष्ट और   अध्यापक आरएस नेगी मिलने पहुंचे थे. योगी से मिलने के लिए उनके पिता लगभग 80 किलोमीटर दूर से आये थे. दोनों की मुलाक़ात होने पर माहौल बेहद भावुक हो गया था. दरअसल कार्यक्रम के आयोजकों ने योगी आदित्यनाथ के पिता को भी आमंत्रित किया था.

Source

आपने पिता से मिलकर योगी की आँखे भर आई थी और सालों के बाद अपने बेटे से मिलने के बाद आनंद सिंह विष्ट भावुक हो गये. इस दौरान योगी आदित्यनाथ ने उन्हें लखनऊ मुख्यमंत्री आवास पर भी आमंत्रित किया है. योगी आदित्यनाथ के पिता फॉरेस्‍ट रेंजर थे. रिटायर होने के बाद से ही वो अक्सर गाँव में ही रहते हैं. योगी आदित्यनाथ एक   भाई सेना में सूबेदार हैं.

Source

जब योगी आदित्यनाथ के सूबेदार भाई से योगी के कार्यकाल के बारे में बात की गयी तो उन्होंने कहा कि वे प्रदेश के लिए  अच्छा काम करें, जितना वो कर सकते हैं. अपने काम में ईमानदारी रखते हुए प्रदेश का विकास करें. आपको बता दें कि मुख्यमंत्री बनने के बाद से योगी आदित्यनाथ ने सिर्फ एक बार अपने भाई से मुलाकात किया  हैं.