दिल्ली में रेप के मामलों पर रोक लगती नही दिख रही, अभी एक ताजा मामला सामने आया है जो 4 नवम्बर का है. दिल्ली के कंझावला इलाके में 4 नवम्बर को एक 7 साल की बच्ची के साथ दो नाबालिग लड़को ने रेप कर दिया था. जिसके बाद पीड़िता को अम्बेडकर हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. इस घटना के बाद दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल काफी परेशान सी दिख रही हैं. मीडिया में ख़बरें आईं हैं कि उन्होंने रातभर उस ICU के बाहर रात गुजारी, जहां रेप पीड़िता का इलाज चल रहा है. इस बारे में मालीवाल का कहना है कि “उन्हें रातभर नींद आई इसलिए वो हॉस्पिटल चली आईं.”

Source

वैसे सोशल मीडिया पर इसको लेकर अलग अलग राय देखने को मिली. कुछ लोगों का कहना है कि स्वाति मालीवाल ऐसा दिखावे के लिए कर रही हैं और कुछ लोगों ने उनका साथ दिया है. फ़िलहाल रेप मामले को लेकर केजरीवाल ने भी ट्विटर पर ट्वीट कर अपना गुस्सा जाहिर किया लेकिन शायद उनके पिछले कारनामों को देखते हुए लोगों को उनका ये रूप पसंद नही आया और उन्हें खरी-खोटी सुनने को मिल गयी. बता दें कि निर्भया रेप मामले में दोषी नाबालिग युवकों को केजरीवाल सरकार ने 10 हजार रुपए की एकमुश्त आर्थिक मदद और एक सिलाई मशीन देने का ऐलान किया था जिसको लेकर केंद्र सरकार ने आपत्ति जताई थी.

केजरीवाल ने 4 नवम्बर की घटना को लेकर ट्विटर पर लिखा कि “बलात्कारी को 6 महीने में फाँसी हो, तभी बलात्कार रुकेंगे। इसके लिए जितनी भी नई अदालतें चाहिए, दिल्ली सरकार उसके लिए पैसे देने को तैयार.” बता दें कि केजरीवाल ने ये ट्वीट स्वाति मालीवाल के ट्वीट के जवाब में किया था.

केजरीवाल के इस ट्वीट के बाद लोगों ने उन्हें खूब खरी-खोटी सुनाई.