भारत के प्रधानमंत्री ने जब से पूरे देश में सभी टैक्स को हटाकर GST लागू किया है, तब से हर चीज़ पर आम जनता को 28 प्रतिशत GST देना पड़ रहा था, जिससे सभी लोग बेहद आहत थे कि उनकी जब इतनी सैलरी ही नहीं तो वो लोग इतना ज्यादा टैक्स कहाँ से भरेंगे, लेकिन बीजेपी सरकार तो हमेशा से ही देश के हित के लिए ही काम करती आई हैं. तो इसलिए केंद्र सरकार ने आम जनता की परेशानी को देखते हुए अपनी जीएसटी कौंसिल की बैठक में इस शुक्रवार यानी 10 नवंबर को कई फैसले लिए हैं, जिससे भारत को राहत की सांस मिली है. सरकार द्वारा लिया गया यह फैसला अब तक का सबसे बड़ा और अच्छा फैसला है.

SOURCE

जी हाँ GST कौंसिल ने इस बार GST दरों में एक बड़ा बदलाव किया है जिसके अनुसार लगभग 200 चीज़ों पर GST पहले से घटा दी गयी है. पहले GST 28 प्रतिशत था लेकिन अब इसे 18 प्रतिशत कर दिया गया है. रिपोर्ट के अनुसार GST में आये नए बदलाव से पंखे, डिटरजेंट, शैम्पू, एलपीजी स्टोव, फर्नीचर आदि के दामों में काफी फर्क नज़र आएगा. वहीँ इन सब में से कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स, वैक्यूम क्लीनर, पान मसाला, सीमेंट और प्री एंड आफ्टर शेविंग सामान समेत वाशिंग मशीन और रेफ्रिजरेटर जैसे निजी सामान को छोड़ कर बाकी की लगभग 200 चीज़ों पर GST घटा कर 18 प्रतिशत कर दी जाएगी.

SOURCE

इस बदलाव से सबसे ज्यादा अगर किसी को फायदा हुआ है तो वो हैं मध्यम वर्ग के लोग. इसके अलावा इस बैठक में मैन्यूफैक्चरिंग सम्बन्धी चीज़ों और रेस्टोरेंट पर एक फीसदी GST लगाने की सिफारिश की जाएगी. आपको बता दें कि दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक यह  फैसला गुवहाटी में लिया गया है, जहाँ वित् मंत्री अरुण जेटली GST बैठक कर रहे हैं और इतना ही नहीं यह बैठक इतनी अहम है कि अब तक चल रही है.

SOURCE

इस बैठक में रियल एस्टेट को ध्यान में रख कर कई नये फैसले लिए जा सकते हैं. हालाँकि, रियल स्टेट को लेकर GST में बदलाव देखने के चांस कम ही है, लेकिन इस बद्लाव से यह बात तो तय है कि काले धन पर भी काफी लगाम लग जायेगी.

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here