पिछले कुछ दिनों से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी सरकार में मंत्रियों पर कुछ लोग लगातार हमला बोल रहे थे. उनकी जानकारी पर सवाल उठा रहे थे. पीएम मोदी के द्वारा लिए गये फैसले को गलत बता रहे थे और यह मांग कर रहे थे कि उनके द्वारा उठाये गये सवालों का जवाब खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दें. ऐसे में बुद्धवार को पीएम मोदी को ऐसा मौका मिल ही गया जहां उन्होंने सरकार की मंशा पर सवाल उठाने वालों और अर्थव्यवस्था को लेकर घेरने वालों को पीएम मोदी ने जवाब दिया.

Source

दरअसल पीएम मोदी इंडियन कंपनी सेक्रेटरीज इंस्टीट्यूट के गोल्डन जुबली समारोह में हिस्सा लेने गये थे.जहां उन्होंने बिना किसी का नाम लिए सरकार पर हमला बोलने वालों को जवाब दिया. पीएम मोदी ने कहा कि शल्य की प्रवृत्ति वाले लोग अर्थव्यवस्था की रफ्तार जरा सी धीमी होने पर ऐसे हंगामा मचाने लगे हैं, जैसे सब कुछ गड़बड़ हो चुका हो. पीएम मोदी ने किसी का नाम तो नही लिया लेकिन उनकी बातों से समझा जा सकता है कि उनके निशाने पर अरुण जौरी और यशवंत सिन्हा थे .

पीएम मोदी ने दिया जबरदस्त जवाब 

Source

पीएम मोदी के विज्ञान भवन पहुँचने से पहले ही इस बात का एहसास हो गया था कि आज कुछ ख़ास होने वाला है. पीएम मोदी को जहाँ से खड़ा होकर बोलना था वहां टीपी यानी ट्रांसपेरेंसी मशीन लगी हुई थी. जिसे तब इस्तेमाल किया जाता है जब भाषण को देखकर पढ़ना होता है. आमतौर पर पीएम मोदी टीपी यानी ट्रांसपेरेंसी का इस्तेमाल नही करते हैं.

देखिए वीडियो

ऐसा पहली बार हुआ है जब कोई प्रधानमंत्री अपनी बात रखने के लिए पॉवरपॉइंट प्रेजेंटेशन का इस्तेमाल किया हो, इसके जरिये पीएम मोदी ने आकड़े पेश कर सवाल उठाने वाले लोगों का मुंह बंद कर दिया. मोदी ने कहा कि “शल्य सिर्फ एक व्यक्ति का नाम नही है बल्कि एक प्रवृत्ति का नाम है जिनका हमेशा यही मकसद होता है निराशा फैलाना और कहना कि सबकुछ गड़बड़ हो गया है. कुछ लोग गंदगी फैला रहे है इसीलिए हमने स्वच्छता अभियान की शुरुआत की है”.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here