साध्वी से रेप के मामले में दोषी करार दिए गए गुरमीत राम रहीम 20 साल की सजा काट रहा है. राम रहीम को सजा के ऐलान के बाद डेरा समर्थकों ने जमकर उत्पात मचाया था. जिसके कारण हिंसा भड़क गयी और कई लोगों की मौत हुई थी. गुरमीत के जेल पहुंचने के बाद रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं. राम रहीम को बचाने के लिए उसके समर्थकों ने पूर्ण प्रयास किया था, लेकिन कानून के आगे किसी की नहीं चलती है.

Source

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख राम रहीम को छुड़ाने के लिए हरियाणा पुलिस को धमकी भरा फ़ोन आया. बता दें कि सोमवार को हरियाणा के डीजीपी को एक कॉल आयी, जिसमें डीजीपी से वह शख्स कह रहा है कि 72 घंटे में राम रहीम को जेल से निकाल लिया जाएगा. हरियाणा की साइबर क्राइम टीम ने जब इस नंबर की लोकेशन को ट्रैश किया तो पता चलता है कि ये इंग्लैंड से फोन आया था. अभी ये नंबर लगातार बंद जा रहा है.

Source

गौरतलब है कि डीजीपी बीएस संधू ने इस तरह के किसी भी कॉल को आने को नकार दिया है. उन्होंने मीडिया में चल रही इस खबर को पूरी तरह गलत बताते हुए कहा है कि इतनी किसी में हिम्मत नहीं है जो राम रहीम को सुनरिया जेल से भागकर ले जाए. राम रहीम 25 अगस्त से अब तक इसी जेल में अपनी सजा काट रहा है और फ़िलहाल में सुरक्षा के इंतजाम और कड़े कर दिए गए हैं.

Source

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है ख़ुफ़िया एजेंसियों ने राम रहीम को इस जेल से किसी और जेल में शिफ्ट करने की सलाह दी है. वहीं पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने साध्वियों की उस याचिका को भी स्वीकार कर लिया है जिसमे उन्होंने राम रहीम की 20 साल की सजा को उम्रकैद में बदलने की मांग की है. बता दें कि राम रहीम पर जो 30 लाख रूपये का जुर्माना लगा था वो भी अभी नहीं दिया है जिसे कोर्ट ने जल्द से जल्द जमा करने का आदेश दिया है.