भारत और अमेरिका की दोस्ती से चीन हमेशा से ही जलता है यह बात सभी जानते हैं लेकिन चीन ने इस बार खुलकर इस बात का खुलासा किया है कि वो भारत और अमेरिका की दोस्ती से जलता है. दरअसल हाल ही में अमेरिका की तरफ से भारत के पक्ष में एक बयान आया था जिसके बाद चीन भड़क गया है. दरअसल हाल ही में अमेरिका के विदेशमंत्री रैक्स टिलरसन ने भारत को सबसे भरोसेमंद साझेदार बताया था और साथ ही चीन-पाक की आलोचना की थी.

source

इस बयान के बाद चीन की तरफ से  कुछ ऐसा बोला गया है जिससे चीन की बौखलाहट साफ़ दिखती है, चीन ने कहा है “अमेरिका को चीन के विकास और विश्व व्यवस्था में चीन की सकारात्मक भूमिका को पूरे संदर्भ में देखकर बात करनी चाहिए” साथ ही यह भी कहा है कि “अमेरिका को चीन के प्रति पक्षपातपूर्ण रवैये से बाहर आकर सहयोग पर फोकस करना चाहिए. गतिरोधों को खत्म करना चाहिए और साथ ही चीन-अमेरिका रिश्तों में सुधार के लिए काम करना चाहिए”  

 

source

 

भारत और अमेरिका के बीच लगातार बन रहे रिश्तों को लेकर चीन ने कहा है कि चीन दुनियाभर में किन्ही दो देशों के बीच क्षेत्रीय शांति, स्थिरता और सहयोग का स्वागत करता है. आपको बता दें नवम्बर मे   ट्रम्प चीन  के  दौरे पर जायेंगे लेकिन इससे पहले  ही चीन की तरफ से आया इस तरह का बयान रिश्तों में दरार ला सकता है.  अमेरिकी विदेश मंत्री ने भारत को अपना सहयोगी तो बताया ही साथ   ही यह भी कहा है कि मुसीबत के समय चीन भारत के साथ खड़ा होगा. टिलरसन ने चीन को लेकर कहा  था कि , ‘‘भारत के साथ उभर रहे चीन ने बहुत कम जिम्मेदाराना ढंग से बर्ताव किया है, कई बार उसने अंतरराष्ट्रीय, सिद्धांत आधारित सीमा को धता बताया जबकि भारत जैसे देश एक ऐसे ढांचे के तहत बर्ताव करते हैं जो दूसरे देशों की संप्रभुता की रक्षा करता है.’  

चीन को अब यह समझना होगा कि भारत अब मोदी सरकार के चलते एक शक्तिशाली देश बन गया है जिसका मुकाबला करना आसान नहीं होगा, पीएम मोदी पहले ही चीन को डोकलाम में धुल चटा चुके हैं. 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here