दो अफ़्रीकी देशों सूडान और मिस्र के बीच 2072 स्क्वायर फीट का एरिया ऐसा है, जिसपर दोनों देशों में से कोई भी अपना दावा नहीं करता. इस एरिया पर किसी का मालिकाना हक़ नहीं है. ऐसे में भारत के एक शख्स जोकि इंदौर का रहने वाला है और जिसका नाम सुयश दीक्षित है, यहाँ पहुँच गया और यहाँ अपना झंडा लगा दिया. सुयश का कहना है कि ये किंगडम ऑफ दीक्षित है और वो यहाँ का राजा है.

दैनिक भास्कर की खबर के अनुसार, सुयश ने UN से भी अपील कर दी है कि वो इस नए देश को मान्यता दे और उसे इसका मालिकाना हक़ भी दिया जाए. हालांकि यूएन से इस संबंध में अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. सुयश ने अपने देश किंगडम ऑफ दीक्षित का झंडा भी तय कर दिया है. जिसके साथ उन्होंने एक फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर भी डाली है.

किंगडम ऑफ दीक्षित का प्रधानमंत्री सुयश ने अपने पिता को बनाया है और मिलिट्री हेड भी उनके पिता ही होंगे. इस देश का राष्ट्रीय पशु उन्होंने छिपकली को बनाया है. इंदौर के हरिकृष्ण पब्लिक स्कूल से पढ़े सुयश ने लोगों से भी कहा है कि वो इस नए देश की मान्यता लेने के लिए अप्लाई कर दें. सूडान और मिस्र के बीच स्थित इस लावारिस जगह का नाम बीर ताविल है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here