रुबिका लियाकत, या यूँ कहिये ज़ी न्यूज़ की एक बुलंद आवाज़.  रुबिका लियाकत को आपने यूँ तो कई मुद्दों पर अपनी आवाज़ बुलंद करते देखा और सुना होगा. फिर बात करिए चाहे तीन तलाक़ बैन की या फिर पश्चिम बंगाल में दुर्गा विसर्जन की. रुबिका लियात्क के बारे में कहा जाता है कि वो हमेशा ही ऐसे मुद्दों पर बहस करती हैं जो देश और समाज के लिए फायदेमंद हों. इतना ही नहीं रुबिका ट्विटर पर भी काफी सक्रिय हैं और वो ट्विटर पर भी आयेदिन अपने विचार साझा करती रहती हैं. जायज़ सी बात है ऐसे में रुबिका लियाकत के फोलोवेर्स भी काफी होंगे.

source

ऐसे में अपनी बुलंद आवाज़ में देश के हर छोटे-बड़े, गंभीर-नर्म मुद्दों पर डटकर अपना पक्ष रखने वाली रुबिका इन दिनों फिर एक बार सुर्ख़ियों में हैं. कारण? योग. अब आप सोचेंगें कि लोगों की जीवन सुधारने वाला योगा आखिर परेशानी का कारण कैसे बना हुआ है. तो आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दरअसल आजकल योगा देश में पहले से ही चर्चा का विषय बना हुआ है.कहानी शुरू हुई एक राजिया फातिमा नाम की लड़की से जो लोगों को योगा सिखाती है और इसी के चलते कुछ मुस्लिम मौलानाओं ने उस पर फतवा जारी कर दिया. ऐसे में न्यूज़ चैनल की डिबेट के दौरान योगा पर फतवा निकालने वाले मौलानाओं के सामने ही रुबिका लियाकत ने योगा करके उनकी जुबां पर ताले जड़ दिए.

दरअसल लोगों को ये बात समझ नहीं आ रही है कि अगर राजिया योगा सिखाकर अपना घर चलाती हैं तो इसमें हर्ज़ क्या है? आखिर क्यों उसपर फतवे जा रहे हैं? आखिर क्यों राजिया के घर पत्थरबाज़ी हो रही है? ऐसे में हाल ही में राजिया को अपना समर्थन देते हुए न्यूज़ रूम में डिबेट में बीच में ही मौलाना के सामने योगा के स्टेप करना शुरू कर दिया. इतना ही नहीं मौलाना साब से सवाल करते हुए रुबिका ने उनसे ये तक कहा कि, “क्यों मौलाना साहब कही आपको मेरे योग करने से कोई दिक्कत तो नहीं हो रही जी?” जिसके जवाब में मौलाना की खिसियाहट साफ़ नज़र आई. यहाँ दिलचस्प बात ये भी रही कि रुबिका लियाकत की देखा-देखी एक मौलाना ने भी योगा किया था.

नोट: राफिया नाज रांची में योग सिखाने के कारण राफिया नाज कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं. उनको योग शिक्षा बंद करने के लिए लगातार धमकियां मिल रही हैं. बुधवार को ही मुख्यमंत्री केआदेश पर राफिया को दो सुरक्षाकर्मी दिए गए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here