मोदी सरकार विदेश में बैठे भगोड़ों के प्रत्यर्पण को लेकर अब सख्त हो गई है. मोदी सरकार की मुहिम का असर भी अब दिखने लगा है. यहाँ तक कि अंडरवर्ल्ड का डॉन कहे जाने वाला दाऊद भी अब परेशान नज़र आ रहा है. यही वजह है कि गुलशन कुमार की हत्या के मामले में वो संगीतकार नदीम सैफी को भारतीय कानून के घेरे में नहीं आने देने के लिए हाथ-पैर मारने लगा है. एक टी.वी चैनल द्वारा जारी किये गए टेप में दाऊद मोदी सरकार द्वारा चलाई गई मुहिम को लेकर चिंता जताते सुना जा रहा है.

source

आपको बता दें कि नब्बे के दशक में नदीम सैफी बॉलीवुड की एक हिट संगीतकार जोड़ी का सदस्य रह चुका है लेकिन अब वो लंबे समय से ब्रिटेन में निर्वासन में रह रहा है. जब अगस्त 1997 में गुलशन कुमार की हत्या की गई थी तो नदीम का नाम सह-संदिग्ध के रूप में दर्ज किया गया था. आपको बता दें कि 2015 से ही रिकॉर्ड की जाने वाली बातचीत की टेप्स में दाऊद को चिंता जताते सुना जा सकता है.

source

इन टेप्स में हो रही बातचीत से साफ़ हो रहा है कि दाऊद फोन पर अपने एक गुर्गे से जिस व्यक्ति के बारे में चिंता जता रहा है वो और कोई नहीं नदीम सैफी है. बातचीत के टेप से ये भी खुलासा हो रहा है कि दाऊद का गुर्गा उसे नदीम सैफी को लेकर संभावित कानूनी खतरे के बारे में आगाह कर रहा है. वह दाऊद को यह भी बता रहा है कि मोदी सरकार द्वारा शुरू किये गए प्रयासों के क्या परिणाम हो रहे हैं. बात स्पष्ट है कि मोदी सरकार से दाऊद बुरी तरह से डरा हुआ है क्योंकि पीएम मोदी आतंक और आतंकवादियों के खिलाफ हर जरुरी कदम उठा रहे हैं ऐसे में दाऊद के गले तक भी कानून का फंदा पहुँच सकता है.  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here