बात गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर है, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह कांग्रेस के लिए प्रचार करने राजकोट गये हुए थे. वापस आ ही रहे थे कि पीछे से एक बुर्जुग ने उन्हें आवाज दी और रोक लिया. बुजुर्ग पास पहुंचा तो ऐसा सवाल पूछ बैठा कि मनमोहन सिंह खुद शरमा जाएं. आपको पूरी कहानी बताएं इससे पहले बता दें कि राजकोट में सभा के दौरान मनमोहन सिंह मोदी सरकार के अबतक के कार्यकाल पर सवाल उठा रहे थे लेकिन खुद के 10 साल के कार्यकाल में हुए घोटालों पर चुप्पी धारण किये हुए थे. बता दें कि कोयला घोटाला, नरेगा घोटाला, आदर्श घोटाला, 2जी स्‍पेक्‍ट्रम घोटाला, सत्‍यम घोटाला, राष्‍ट्रमंडल खेल घोटाला को लेकर ऐसे कई घोटाले हैं जिनसे मनमोहन सिंह को शर्मिंदगी झेलनी पड़ी है. इन्ही सब मुद्दों पर मनमोहन सिंह को एक बुजुर्ग ने घेर लिया, फिर देखिये उसके बाद क्या हुआ ?

Source

दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक राजकोट में एक सभा को संबोधित करके पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन वापस आ रहे थे कि पीछे से एक आवाज आयी, और मनमोहन सिंह रुक गये. बता दें कि जिस बुजुर्ग ने आवाज लगाई थी उसका नाम मनसुखभाई था. मनसुखभाई ने मनमोहन सिंह को एक किताब दिखाई जिसमें उनके कार्यकाल में हुए घोटालों की लिस्ट थी. उसे दिखाते हुए मनसुखभाई ने मनमोहन सिंह से बेहद तीखा सवाल कर लिया.

Source

बता दें कि मनसुखभाई ने किताब दिखाते हुए मनमोहन सिंह से सवाल किया कि “सभा में आपने मोदी सरकार के तीन सालों का खूब जिक्र किया, खूब कमियां निकाली लेकिन आपके शासन में करोड़ों रुपए के घोटाले हुए, आप उन पर क्यों नहीं बोले?” इस सवाल को सुनते ही वहां मौजूद लोग असहज से दिखाई दिए. सवाल का उत्तर पाने की चाहत में मनसुखभाई मनमोहन सिंह की तरफ देखते रहे. फ़िलहाल मनमोहन सिंह ने कुछ खास जवाब नही दिया और शायद कुछ खास जवाब था भी नही और उन्होंने मनसुखभाई के सामने सिर्फ हाथ जोड़ लिए.