शनिवार को जब ‘चारा घोटाला’ के मामले में लालू प्रसाद यादव को सीबीआई की एक विशेष अदालत ने दोषी करार दिया तो उन्हें न्यायिक हिरासत में ले लिया गया. लालू जेल गये तो उनकी पार्टी में खलबली मच गयी. आरोप लगने शुरू हो गये कि ये सब बीजेपी के इशारों पर हुआ है लेकिन ‘लालू के लाल’ भूल गये कि ये फैसला विशेष अदालत ने सुनाया है ना की मोदी सरकार ने. फ़िलहाल पुलिस ने लालू यादव को हिरासत में ले लिया और रांची की होटवार जेल (बिरसा मुंडा केंद्रीय कारा) में भेज दिया है. वैसे लालू और उनके परिवार के लिए जेल जाना पिकनिक मनाने जैसा है. ये आपको भी अच्छे से पता होगा कि सामान्य आदमी के लिए जेल एक काल-कोठारी के सामान होता है लेकिन नेता और अभितेनाओं के लिए जेल किसी पिकनिक स्पॉट से कम नही होता. लालू के जेल जाने से पहले लालू के दोनों बेटे भी जब गिरफ्तार किये गये थे तब उनकी आलीशान खुशामदीद जानकर आप हैरान रह जायेंगे.

Source

भास्कर की खबर के मुताबिक 21 दिसम्बर को बिहार बंद के दौरान लालू के दोनों बेटे तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव को गिरफ्तार किया गया था. जैसे ही वो गिरफ्तार करके थाने लाये गये, सबसे पहले उन्हें चाय दी गयी, उसके बाद तेज प्रताप को मिठाई खाते देखा गया. इतना ही नहीं तेजस्वी से मिलने के लिए उनके कई समर्थक मिठाई की टोकरी लेकर आये थे और उसे लेकर सीधा दरोगा के कमरे में घूस गये. थाने में ऐसा लग रहा था कि जैसे जश्न मनाया जा रहा हो. हालांकि थोड़ी देर बाद उन्हें छोड़ दिया गया था.

लालू जेल जाते हुए

अभी जल्द ही लालू भी जेल गये हैं, अगर जेल में उनके VIP इंतजाम की बात और सुख-सुविधाओं की बात करें तो भास्कर के मुताबिक उन्हें एक अलग से कमरा दिया जायेगा. जिसमें एक बेड, टीवी(दूरदर्शन चैनल ही) और मच्छरदानी का इंतजाम होगा. उन्हें सुबह 6 बजे अख़बार दिया जायेगा. वैसे जेल में लालू को खाना बनाने की सुविधा दी जाएगी लेकिन अगर वो चाहें तो बाहर से भी मंगवा सकते हैं. हालांकि उनकी सजा पर फैसला 3 जनवरी को होगा इसलिए उन्हें अभी जेल के कपड़े नहीं दिए गये हैं. ऐसे इंतजाम के बाद भी जब लालू को विशेष अदालत ने न्यायिक हिरासत में लेने का फैसला सुनाया था तब लालू और उनकी पार्टी के लोग गरीब परिवार में पैदा होने का रोना रो रहे थे.