अमूमन आपने देखा होगा कि पीएम नरेंद्र मोदी किसी भी विदेश दौरे पर जाते हैं तो वो वहां के राष्ट्र प्रमुख से गले लगते हैं और अपनी आत्मीयता दिखाते हैं. वहीं जब इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू 14 जनवरी को 6 दिन के लिए भारत के दौरे पर आये तो पीएम मोदी ने उन्हें बड़े भाव से गले लगाया लेकिन विरोधियों ने इस पर भी राजनीति करनी शुरू कर दी. दरअसल मोदी के मिलने पर कांग्रेस ने तंज कसा है और बाकायदा इसपर एक वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल किया. विरोधी दल अपनी इस घटिया राजनीति में ये भूल गये कि नरेंद्र मोदी सिर्फ बीजेपी के नेता ही नहीं बल्कि देश के प्रधानमंत्री भी हैं.

इन्हीं सब मामलों को लेकर आजतक पर रोहित सरदाना एक शो को होस्ट कर रहे थे. इस शो में मेहमान के तौर पर आये सपा प्रवक्ता अनुराग भदौरिया से रोहित सरदाना ने पूछा कि ‘आखिर मोदी अगर नेतन्याहू से गले मिल रहे हैं, इसमें बुरा क्या है ?’ तो जवाब में भदौरिया ने कहा कि “बुराई तो कुछ भी नहीं है लेकिन इस मिलन में कुछ फायदा भी तो होना चाहिए. मोदी जी ने चाइना के राष्ट्रपति को झूला झुलाया, लेकिन बदले में चीनी सैनिक हमारी सीमा में घुस आए, देखना चाहिए कि गले मिलने पर हमें मिल क्या रहा है.”

अनुराग भदौरिया के इतना कहते ही रोहित सरदाना भड़क गये. उन्होंने अनुराग को फटकार लगाने के अंदाज में कहा कि “आपके घर कोई मेहमान आता है तो क्या गले मिलते समय यह उम्मीद करते हैं कि जेब से कितना पैसा निकाल लूं। मिलते समय कितना बड़ा कटोरा लिये रहूं। अरे…दो देशों के प्रधानमंत्री मिल रहे हैं कोई जेबकतरे थोड़ी ?”

वीडियो