भ्रष्टाचार विरोधी आन्दोलन को आधार बनाकर केजरीवाल जब से राजनीति में आये हैं तब से उनकी मुसीबतें कम नहीं हो रही हैं. कभी अपने बयानों के कारण तो कभी अपने विधायकों की वजह से, हर मामले में केजरीवाल ने ‘झंडे गाड़’ दिए है. मुख्य सचिव से मारपीट के मामले में भी केजरीवाल की खूब फजीहत हुई. जैसे-तैसे मामला शांत हो चला था कि केजरीवाल ने खुद एक मुद्दा पैदा कर दिया. “इस बार खबर पंजाब से जुड़ी हुई है”. दरअसल पिछले साल पंजाब विधानसभा में केजरीवाल की पार्टी ने भी भाग लिया था और चुनाव प्रचार में उनके कई नेता भी प्रचार करने गये थे, केजरीवाल भी. अपनी फिसलती जुबान से उन्होंने उस वक्त कुछ ऐसा बोल दिया था कि जो अब उन्हें भारी पड़ रहा है.

Source

बता दें कि पंजाब के पूर्व मंत्री विक्रम सिंह मजीठिया पर ड्रग्स की तस्करी करने का आरोप लगाने के बाद केजरीवाल ने अब उनसे लिखित रूप से माफ़ी मांग ली है. माफ़ी मांगने के बाद आम आदमी पार्टी में केजरीवाल की काफी फजीहत हो रही है. यहां तक कि ‘आप’ की पंजाब इकाई में घमासान भी मचा हुआ है. जिससे केजरीवाल की हालत ख़राब है.

भगवंत मान ने दिया इस्तीफा

केजरीवाल ने 15 मार्च को मजीठिया से माफ़ी मांगी तो 16 मार्च को ही पंजाब के संगरूर जिले से सांसद और आम आदमी पार्टी के बड़े नेता भगवंत मान ने पार्टी के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने ट्विटर पर इसकी जानकारी दी. बता दें कि भगवंत मान आम आदमी पार्टी के पंजाब प्रान्त के प्रदेश अध्यक्ष थे. यही नहीं केजरीवाल के माफ़ी मांगने पर पार्टी की पंजाब इकाई में काफी गुस्सा है. पंजाब ‘आप’ के नेता सुखपाल सिंह खैहरा ने इस कदम पर कहा कि ‘केजरीवाल ने यह कदम पार्टी में बिना विचार-विमर्श करके ही उठाया है.’

कुमार विश्वास ने केजरीवाल को ‘थूककर चाटने वाला’ कहा

आप की तरफ से राज्यसभा ना जा पाने वाले कुमार विश्वास ने केजरीवाल की इस माफ़ी पर कहा कि “एकता बाँटने में माहिर है, खुद की जड़ काटने में माहिर है , हम क्या उस शख़्स पर थूकें जो खुद थूक कर चाटने में माहिर है !”

क्या था मामला

एक हिंदी वेबसाइट के अनुसार पंजाब विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान केजरीवाल ने पंजाब के पूर्व मंत्री और शिरोमणि अकाली दल के बड़े नेता विक्रम सिंह मजीठिया पर आरोप लगाया था कि वो ड्रग्स की तस्करी करते हैं और पंजाब में नशा बेचने का काम करते हैं, जिससे पंजाब की हालत बिगड़ी हुई है. चुनाव ख़त्म होने के बाद इस आरोप पर मजीठिया ने केजरीवाल समेत संजय सिंह और आशीष खेतान पर अमृतसर जिला अदालत में मानहानि का केस कर दिया था. जिसमें अब केजरीवाल ने माफ़ी मांग ली है, वो भी लिखित रूप से.