अभी हाल ही में ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी का विवाद सुर्ख़ियों में बना हुआ है. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले जा रहे मैच के दौरान बैनक्राफ्ट को बॉल से छेड़छाड़ करते पाया गया है. जिसके बाद टीम के कप्तान स्टीवन स्मिथ और उपकप्तान डेविड वार्नर को उनके पद से हटा दिया गया है और साथ ही उनपर एक मैच की पाबंदी और 100 प्रतिशत का जुर्माना लगा है. इन दिनों ये मामला सुर्ख़ियों में बना हुआ है. ऐसा ही आज एक मामला हम बताने जा रहे हैं जिसे जानने के बाद आप भी यकीन नहीं कर पाएंगे.

Source

आपकी जानकारी के लिए बता दें जिस वैसलीन को हम अपनी त्वचा पर लगाते हैं. अंग्रेजों ने उसी की सहायता लेकर भारत को हराया था. आप सोच सकते हैं जिस वैसलीन को शरीर पर लगाते हैं वो एक क्रिकेट मैच को पलट सकता है. जो वाकया हम बताने जा रहे हैं ये इतिहास का पहला ऐसा मामला था जो सबसे बॉल से छेड़छाड़ की गयी थी. ये मुकाबला भारत और इंग्लैंड के बीच खेला गया था. जिसके बाद अंग्रेजों ने वैसलीन की सहायता से मैच को पलट दिया था. जिसके बाद भारत ने बॉल से छेड़छाड़ का आरोप भी लगाया था.

Source

ऐसे हुआ था ये सब 

यह बात 1977 की है. इस दौरान इंग्लैंड की टीम भारत दौरे पर थी और दो टेस्ट जीतने के बाद चेन्नई में भारत के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में भिड़ी हुई थी. इस मैच के दौरान इंग्लैड के बॉलर जॉन लेवर की बॉल जादुई तरीके से स्विंग कर रही थी, जबकि पिच का उस हिसाब की नहीं थी. यह सब देखने के बाद भारतीय टीम के कप्तान बिशन सिंह बेदी को कुछ गड़बड़ी महसूस हुई. मैच में देखा जा रहा था कि लगातर भारतीय बैट्समेन आउट हो रहे थे और अकेले जॉन लेवर की बोलिंग तहलका मचा रही थी. ऐसा हो कैसे रहा था बेदी को समझ नहीं आ रहा था. जब बेदी ने गौर किया तो पाया जॉन लेवर बार-बार अपने सिर से पसीना पोंछकर बॉल पर रगड़ रहे थे. जिसके बाद उन्हें लगा कि निश्चित तौर पर ही शरीर पर लगा हुआ वैसलीन है जिसे बॉल पर लगाकर स्विंग कराई जा रही है. तभी अंपायर ने जो किया वो हैरान कर देगा.

Source

गौरतलब है कि इंग्लैंड ने 262 रन के बाद भारतीय टीम को मात्र 164 रन पर समेट दिया. इस मैच में जॉन लेवर ने 59 रन देकर 5 विकेट गिराए. जिसके बाद अंपायर को भी उनके ऊपर शक हुआ. उसी दौरान अंपायर के साथ स्वेट स्ट्रिप लग गयी जिसपर उन्हें वैसलीन के होने का शक हुआ. जिसके बाद अंपायर ने इस बात की जानकारी भारतीय टीम के कप्तान बिशन सिंह और इंग्लैंड के कप्तान टोनी ग्रेग को दी. ये जानकारी मिलते ही बिशन सिंह ने मीडिया के सामने इंग्लैंड की इस हरकत की पोल खोल दी. जिसक बाद बॉल को जाँच होने के लिए भेजा गया तो बॉल पर वैसलीन होने की पुष्टि हुई. तो देखा आपने एक वैसलीन की वजह से टीम मैच हार गयी थी. एक्सपर्ट्स का भी मानना है कि वैसलीन लगाने से भारत की पिचों पर बॉल को गजब का स्विंग कराया जाता है. इंग्लैंड के इस कारनामे को जानकर तत्काल टीम भी हैरान रह गयी थी. क्रिकेट इतिहास में पहली बार भारत के साथ इंग्लैंड ने ये चीटिंग की थी.

Source