अभी कुछ दिनों पहले ही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बेटे को लेकर विपक्ष भाजपा पर जमकर निशाना साधा था. अब हाल ही में एक खबर और आ रही है जिसके बाद से कांग्रेस ने बीजेपी पर प्रहार करना शुरू कर दिया है. जिसमे आरोप लगाया जा रहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के बेटे शौर्य के एक संगठन चलाने में हितों का टकराव की संभावना है. बताया जा रहा है कि संगठन के बोर्ड में कुछ केंद्रीय मंत्रियों के होने का भी आरोप लगाया जा रहा है.

Source

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने भाजपा पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया है कि ‘‘शाह-जादा की अपार सफलता के बाद भाजपा की नयी पेशकश — अजित शौर्य गाथा।’’ खबर में आरोप लगाया है कि डोभाल के बेटे द्वारा चलाये जा रहे थिंक टैंक इंडिया फाउंडेशन को चलाने में हितों के टकराव की संभावना’’है क्योंकि शौर्य डोभाल वित्तीय सेवा कंपनी में साझीदार हैं और थिंक टैंक में कुछ वरिष्ठ मंत्री निदेशक पद पर हैं। यह संगठन कुछ विदेशी और भारतीय कारपोरेट के वित्तीय मदद से चलता है और इन कारपोरेट में कुछ का सरकार से भी लेन-देन है. 

Source

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इंडिया फाउंडेशन का अपारदर्शी वित्त व्यवस्था है. इसमें वरिष्ठ मंत्रियों का निदेशक पद है और इसके कार्यकारी निदेशक शौर्य डोभाल द्वारा जेमिनी फाइनेंशियल र्सिवसेज का संचालन भी हितों के टकराव और लॉबिइंग की संभावना को दर्शाता है. जेमिनी फाइनेंशियल र्सिवसेज एक ऐसी कंपनी है जो ‘ओईसीडी और उभरते एशियाई अर्थव्यवस्था के बीच लेन-देन और पूंजी प्रवाह का काम करती है।’’

Source

जनसत्ता की खबर के अनुसार -कांग्रेस ने पीएम मोदी से मांग की है कि उन 4 केंद्रीय मंत्रियों को हटा देना चाहिए जो संगठन में निदेशक हैं. इसी के साथ पार्टी ने इस मामले को लेकर सीबीआई जांच की मांग की है. कांग्रेस के वरिष्ठ कपिल सिब्बल ने कहा है कि ‘‘प्रधानमंत्री मोदी को उन चार मंत्रियों को हटा देना चाहिए जो इंडिया फाउंडेशन के बोर्ड में शामिल हैं। हम मोदी से पूछना चाहते हैं कि वह कब उन्हें हटाएंगे।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here