चीन की अकड़ को कम करने के लिए बन रही है एक ऐसी योजना जिसने बढ़ा दी है चीन की चिंता

चीन की अकड़ को कम करने के लिए फिलीपिंस के मनीला में भारत, अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और जापान के बीच एक चतुर्पक्षीय बैठक हुई. इस बैठक ने चीन को सोचने पर मजबूर कर दिया. उसे अब अहसास होने लगा होगा कि अकड़ दिखाकर अब रिश्ते ठीक नहीं किये जा सकते. इस बैठक की सबसे ख़ास बात ये रही कि ये बैठक एशिया-प्रशांत की जगह हिन्द-प्रशांत की नयी संकल्पना पर हुई. जिस सामरिक क्षेत्र को लेकर बैठक हुई उस क्षेत्र में चीनी सेना की उपस्थिति बढ़ती जा रही है.

source

आजतक की खबर के अनुसार भारत, जापान, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के बीच एक चतुर्भुज गठबंधन होने वाला है. माना जा रहा है कि इस गठबंधन की मुख्य वजह चीन को रास्ते पर लाना है उसे नियंत्रित करना है. दक्षिण चीन सागर में चीन आक्रामक होता जा रहा है और इस चतुर्भुज की प्रासंगिकता और बढ़ जाती है. वहीँ सामरिक महत्व के एशिया प्रशांत क्षेत्र में अमेरिका भारत के लिए बड़ी भूमिका की वकालत कर रहा है. रविवार को इन चारों देशों के अधिकारियों की बैठक भी हुई और इस गठबंधन के भविष्य को लेकर भी जरुरी बातचीत हुई.

source

चारों देशों की इस पहल के बाद चीन घबराया हुआ है. दरअसल अमेरिका का मानना है कि वैश्विक व्यापार दक्षिण चीन सागर से ही होता है और इसलिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इससे जुड़े विवादों के निपटारे में दखल देना चाहिए जबकि चीन इस रुख को बार-बार नकार देता है. चीन के इसी रुख से निपटने के लिए 10 साल बाद अब चतुर्भुज प्लान को फिर से जिंदा कर दिया गया है.

Facebook Comments