अल्पेश ठाकोर के इस वीडियो से सोशल मीडिया पर हो रही है फजीहत, कांग्रेस आलाकमान हो सकता है नाराज !

अल्पेश ठाकोर जैसे लोग पहले लोगों के हक़ के लिए लड़ने की बात करेंगे लेकिन जब उनका स्वार्थ सिद्ध हो जाता है तब अपना असली रूप दिखाते हैं, जो आप इस वीडियो को देखकर आसानी से समझ जायेंगे

गुजरात:

याद कीजिये वो समय जब गुजरात विधानसभा चुनाव हो रहे थे, तब गुजरात से तीन नाम खूब चर्चा में थे जिनमें हार्दिक पटेल, अपेल्श ठाकोर और जिग्नेश मेवाणी शामिल थे. इनको लेकर माना जा रहा था कि ये तीनों बीजेपी का गणित ख़राब कर सकते हैं और गुजरात में बीजेपी की सरकार बनाने में दिक्कतें खड़ी कर सकते हैं. लेकिन ऐसा कुछ हुआ नहीं. जहां एक तरफ बीजेपी डंके की चोट पर लगातार चौथी बार सत्ता में आई वहीं इन तीनों तथाकथित क्रांतिकारी नेताओं की राजनीति भी सिमट कर रह गयी.

(बांये से) हार्दिक पटेल, अल्पेश ठाकोर, जिग्नेश मेवाणी (फोटो सोर्स)

इस काम की वजह से फंस गये OBC नेता अल्पेश ठाकोर

दरअसल OBC नेता और कांग्रेस से विधायक अल्पेश ठाकोर का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें वो कुछ ऐसा करते हुए दिखाई दे रहे हैं जो बेहद ही अशोभनीय हैं. जनसत्ता की खबर के मुताबिक 17 जून को अल्पेश एक जनसभा में RBI द्वारा जारी की गयी गाइडलाइन के खिलाफ जाकर नोट उड़ाते नजर आये. बता दें कि ऐसा करना गैर-क़ानूनी है.

एक कार्यक्रम के दौरान अल्पेश ठाकोर (फोटो सोर्स)

अल्पेश खुद पर काबू नहीं रख पाए और उड़ाने लगे नोट

गुजरात की पाटन जिले की राधनपुर सीट से विधायक अल्पेश ठाकोर अपने ही क्षेत्र के एक संगीत कार्यक्रम में शामिल हुए थे. यह कार्यक्रम सदाराम कुमार छात्रालय में आयोजित हुआ था. इस कार्यक्रम में एक समय ऐसा आया जब अल्पेश खुद पर काबू नहीं रख पाए और पैसे लुटाने लगे. नोट उछालने का वीडियो जब सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो उनकी काफी फजीहत हुई.

उस संगीत कार्यक्रम के वीडियो से ली गयी फोटो

जब फंसे तो अल्पेश कहने लगे कि..

इस फजीहत के बाद अल्पेश ने सफाई देते हुए कहा कि, “मैंने लड़कियों की शिक्षा के सहयोग के लिए ऐसा किया है, मुझे ज्ञात है कि मेरे इस काम से कुछ विवाद जरूर हुआ है.” आपको बता दें कि अल्पेश ठाकोर ने जिस तरीके का कृत्य किया है, उससे कांग्रेस के गुजरात प्रदेश अध्यक्ष नाराज चल रहे हैं, जो अल्पेश के लिए मुसीबत के समान है. इतना ही नहीं अल्पेश ने रिजर्व बैंक इंडिया की गाइडलाइन के खिलाफ भी काम किया है.

बताया जा रहा है कि अल्पेश ने इस कार्यक्रम में करीब 11 लाख रूपये के नोट उड़ाए थे

क्या है RBI की गाइडलाइन

पैसे की बर्बादी व नोटों के बेढंगे इस्तेमाल को देखत हुए RBI ने गाइडलाइन जारी की है कि, “नोटों का इस्तेमाल किसी कार्यक्रम की सजावट के लिए, माला बनाने के लिए या सजाने के लिए नहीं किया जा सकता.”

देखिये अल्पेश का वीडियो

आपको क्या लगता है कि अल्पेश जैसे लोग सच में लोगों के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं या फिर सिर्फ ठोंग कर रहे हैं और अपना स्वार्थ सिद्ध कर रहे हैं ?

Facebook Comments