जब एंकर अंजना ने सवाल पूछा कि, देश से बड़ा है मजहब ? तो देखिये कैसे इस शख्स की खुल गयी पोल !

ऐसा कई बार हो चुका है कि ‘भारत माता की जय’ और ‘वन्दे मातरम’ ना बोलने पर बहस छिड़ गयी है, इसके बाद भी जब कोई मुसलमान भारत माता की जय बोलता है और अपनी देशभक्ति जाहिर करता है, तो उसपर ‘इस्लाम विरोधी’ होने का इल्जाम लगा दिया जाता है. अभी जल्द ही एक ऐसा मामला सामने आया जब अटल जी की ‘श्रद्धा सभा’ में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारुख अब्दुल्ला ने भावुक होकर भाषण दिया और अंतिम में तीन बार ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाये. इन नारों के बाद फारुख अब्दुल्ला का विरोध शुरू हो गया है.

बाबर कादरी ने मजहब को देश से ऊपर बताया (फोटो सोर्स: यूट्यूब)

‘भारत माता की जय’ के नारों के बाद विरोध क्यों ?”

22 अगस्त, बुधवार को जब फारुख अब्दुल्ला कश्मीर में हजरत बल में बकरीद की नमाज पढ़ने गये तो उन्हें भारी विरोध का सामना करना पड़ा. पूर्व मुख्यमंत्री की गलती इतनी थी कि उन्होंने भारत माता की जय के नारे लगाये थे. उन्हें जूते तक दिखाए गये. इसी मुद्दे पर आजतक पर एक बहस हो रही थी. इस बहस में वकील बाबर कादरी भी मौजूद थे. जब अंजना ओम कश्यप ने बाबर कादरी से सवाल किया कि, “आखिर फारुख अब्दुल्ला ने अटल जी की श्रद्धा सभा में अपने मन से ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाये तो इसका विरोध क्यों होना चाइये ?”

अंजना ओम कश्यप ने लगाई लताड़

इस सवाल के जवाब में कश्मीर के रहने वाले वकील बाबर कादरी ने इस्लाम का हवाला देते हुए फारुख अब्दुल्ला को गलत ठहराया. बस इतना सुनते ही शो को होस्ट कर रही अंजना ओम कश्यप का गुस्सा बढ़ गया. उन्होंने बाबर कादरी की धज्जियाँ उड़ाते हुए कहा कि, “अब पर्दा उठा आपकी सच्चाई से, मजहबी रंग आ गया सामने. दो सवाल मैंने आपसे पूछ लिए, मजहबी रंग सामने आ गया?”

फोटो सोर्स: यूट्यूब

इतना ही नहीं अंजना ओम कश्यप ने बाबर कादरी पर गुस्सा निकालते हुए कहा कि, “बस हो गया ना, मजहब देशभक्ति की राह में आता है, ये आज सामने आ गया !” देखिये पूरा वीडियो, कैसे अंजना ओम कश्यप ने बाबर कादरी का मुखौटा हटाया.

वीडियो:

Facebook Comments