खुद हार्दिक पटेल के दोस्त ने खोल दिया हार्दिक की वायरल हो रही सीडी का राज़, कहा मैंने ही…

बीते कुछ दिनों से हार्दिक पटेल जनता के दिल-ओ-दिमाग से उतर ही नहीं रहे हैं, वजह है उनकी एक के बाद एक करके लीक हुई आपत्तिजनक सीडी. ये क्यों लीक हुईं? कैसे लीक हुईं? कब लीक हुईं? कहाँ से लीक हुईं? ये सवाल कोई नहीं जानता बस सब इस सीडी को देखकर या तो इस पर शर्म व्यक्त कर रहे हैं या फिर उसपर दुःख जता रहे हैं. ऐसे में अब इस सीडी को लेकर खुद हार्दिक पटेल के दोस्त ने एक ऐसा ख़ुलासा कर दिया है जिसके बाद हार्दिक पटेल की सभी दलीलें धरी-की-धरी रह जाएँगी.

source

“मैंने ही बुक किया था हार्दिक और उसकी ‘पत्नी’ के लिए कमरा

पाटीदार आन्दोलन के समय हार्दिक पटेल के सहयोगी रहे अश्विनी सांकडशेरिया तो सबको ही याद होंगें. जानकारी के लिए बता दें कि हार्दिक की सेक्स सीडी पर उन्होंने ही ख़ुलासा करते हुए बताया है कि, “हार्दिक पटेल एक नंबर का झूठा इंसान है. एक समय की बात है जब उसने खुद को शादीशुदा बताया था. उस वक़्त वो मेरे पास दिल्ली की एक लड़की को लेकर आया था और उसे अपनी पत्नी बता रहा था. इसके बाद मैंने ही हार्दिक के कहने पर उसके लिए मसूरी के एक रिजोर्ट में उनके हनीमून का बंदोबस्त किया था. हालाँकि सबको बाद में पता चला कि हार्दिक फरेबी है. ये बात जब दिल्ली वाली लड़की को पता चली तो उसका दिल टूट गया और तभी से दोनों की राहें जुदा हो गयीं.”

source

इतना ही नहीं आश्विन के खुलासों पर यकीन किया जाये तो उनका कहना है कि हार्दिक ने शादी गर्मियों में ही कर ली थी इसके बाद ही वो मसूरी गया था. अभी बात तो पुख्ता करते हुए आश्विन ने ये भी दावा किया है कि मसूरी के उस रेसॉर्ट से महत्वपूर्ण जानकारी निकाली जा सकती है. आश्विन ने कहा कि, ” पाटीदारों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ करने के लिए हार्दिक को कड़ी-से-कड़ी सजा मिलनी चाहिए. यहाँ तक की इसके लिए मैंने तो हार्दिक की करतूतों का पूरा चिट्ठा आइबी को भेज भी दिया है.” आश्विन ने अपने खुलासों में ये भी कहा है कि आठ अगस्त को हार्दिक महेसाणा आया था जहाँ दोनों  की बातें हुईं थी. इसी दौरान आश्विन ने हार्दिक से पूछा था कि क्या तुम्हारी वाकई में शादी हो चुकी है? तब हार्दिक आश्विन के पैरों में गिरकर बोले, “आश्विन भाई कृपा करके ये किसी से मत कहना.”

देखिये वीडियो:

 

मैंने करवाया था हनीमून का इंतज़ाम 

आश्विन ने इस खुलासे के दौरान एक बात साफ़ की थी कि वो पूरे होश-ओ-हवास में हैं और तभी ये ख़ुलासा कर रहे हैं. उनका दावा है कि हार्दिक 2015 मई में आन्दोलन से कुछ समय पहले ही दिल्ली आये थे और आश्विन से पूछा था कि कपड़े लेने हैं कहाँ से लूं? तब आश्विन ने उन्हें कनॉट प्लेस का नाम सुझाया था जहाँ से हार्दिक पटेल ने अपनी ‘पत्नी’ के लिए कपड़े खरीदे थे और इसके बाद मैंने ही हनीमून का भी बंदोबस्त भी खुद ही किया था.

खबर source: इंडिया संवाद 

 

Facebook Comments