शादी के 21 सालों बाद भी पत्नी के प्रेग्नेंट ना होने पर पती ने पत्नी कि ख़ुशी के लिए गोद लिया था बच्चा लेकिन उसे क्या पता था कि…

देश और दुनिया में आए दिन कोई ना कोई नया मामला सामने आता ही रहता है। ऐसा ही एक मामला झांसी रेलवे स्टेशन से बच्चे के चोरी होने का था। इस मामले में पुलिस को सफलता मिली है और उन्होंने चोरी हुए बच्चे को ढूंढ निकाला है। चोरी हुए इस बच्चे को ढूंढने के साथ ही एक नया मामला और जुड़ गया है।

आपको बता दें कि बीते 16 मई को झांसी के रेलवे स्टेशन से 3 युवकों ने मिलकर एक बच्चे को चोरी कर लिया था और चोरी के बाद उस बच्चे के साथ ऐसा किया जिसकी किसी ने उम्मीद भी नहीं की होगी. जी हाँ ये बच्चा बहुत ही छोटा है और इसको उसके माँ बाप से दूर करके उसके साथ ऐसा काम किया था.

इस  बच्चे को युवकों ने 17 मई को मध्य प्रदेश के दतिया निवासी एक संपन्न किसान को 5 लाख रुपए में बेच दिया था। पुलिस ने मामले की जांच करते हुए बच्चा चुराने वाले युवकों और बच्चों को खरीदने वाले दंपती को अरेस्ट कर लिया है।युवकों ने बच्चे को एक ऐसे किसान को बेचा जिसकी बीवी शादी के 21 साल बाद भी गर्भवती ना होने पर लगातार उससे बच्चे की मांग करती थी।

आरपीएफ एसपी डॉ. ओमप्रकाश सिंह ने बताया, “बच्चा खरीदने वाला बृजपाल सिंह एमपी के दतिया का एक संपन्न किसान है। बच्चें को पाने के लिए उसने कई अनाथालय और सरकारी अस्पतालों में संपर्क भी किया। इस दौरान उनकी मुलाकात आरोपी सुरेश और उसके दो साथियों से हुई और उसके बाद बच्चे को खरीदने की डील की गई थी।

आपको बता दें कि 6 मई को झांसी रेलवे स्टेशन के प्लेटफ़ॉर्म 7 से एक बच्चा चोरी हुआ था। टीकमगढ़ जिले की महिला हीरा अहिरवार अपने पति के साथ दिल्ली से रात में लौट रही थी। उन दोनों झांसी रेलवे स्टेशन से अगली सुबह ट्रेन पकड़नी थी, जिसके इंतजार में वह प्लेटफॉर्म पर ही सो गई। गहरी नींद लगने के बाद उनका बच्चा चोरी कर लिया गया। लेकिन पूरी घटना स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। बच्चे को चुराने का मास्टरमाइंड सुरेश कुमार जालौन जिले के कोटरा का रहने वाला है। उसने बच्चा चुराने के लिए चार घंटे तक प्लेटफॉर्म पर इंतज़ार किया।

दंपति अपने 6 महिने के बच्चे को अपने पास में लिटाकर सो रहा था। इस काम में झांसी के ही धर्मेन्द्र औऱ अनिल कुशवाहा भी शामिल थे। एसपी के मुताबिक तीनों ने बच्चा चुराने के अगली दिन 17 मई को उसे दतिया के दंपती को 5 लाख रुपए में बेच दिया। पुलिस ने बच्चा बेचने वाले के साथ ही खरीदने वाले बृजपाल सिंह को भी अरेस्ट किया है।

तो वहीं पूरे मामले में एक मां को दुख तो होना ही था। जहां एक मां को अपना बच्चा वापिस मिलने की खुशी थी तो वहीं कुछ दिन पहले बच्चे को पाकर मां बनी महिला को बच्चे को खोने का दुख था। बच्चा खरीदने वाले बृजपाल सिंह की पत्नी ने रोते हुए पुलिस को बताया “मुझे नहीं पता था कि ये चोरी का बच्चा लाए हैं, वो भी खरीद कर। मैं 21 साल से बच्चे के लिए तरस रही थी। उसे पाकर बहुत खुश थी, लेकिन 15 दिन में ही मेरी खुशी मातम में बदल गई है। पांच लाख क्या, मैं इन लोगों को पूरी जायदाद देने को तैयार हूं, बस बच्चा मेरे पास रहने दें।”

तो वहीं अपने खोए हुए बच्चे को वापिस पाने वाली महिला ने भगवान का औऱ पुलिस का शुक्रिया करते हुए कहा, “भगवान ने मुझे मेरी अमानत लौटा दी है। वो मुझे पांच लाख क्या पांच करोड़ रुपए भी दे, तो भी मैं अपने जिगर के टुकड़े को नहीं बेचूंगी।”

Facebook Comments