बरखा दत्त के मन की बात आखिर जुबां पर आ ही गयी कहा मैं मुस्लिम होती तो ऐसा होता जिसके बाद लोगों ने उनकी ऐसी मुराद पूरी की कि…

बरखा दत्त पत्रकारिता के क्षेत्र में वो नाम हैं जिनके बारे में सभी जानते हैं और ये भी जानते हैं कि उन्होंने कैसे हमेशा से ही देश के खिलाफ रिपोर्टिंग की है l बरखा दत्त वही रिपोर्टर हैं जिन्हें भारतीय सेना पर भरोसा नहीं है और कश्मीरी पत्थरबाज़ इनको शांतिप्रिय लगते हैं l आपको बता दें बरखा दत्त NDTV के लिए काम करती है l  बहुत दिनों से मार्किट में इनका नाम नहीं आया है क्योंकि इस समय केंद्र में मोदी सरकार है और अच्छे-अच्छों की बोलती बंद है l बरखा दत्त हमेशा से ही ट्विटर पर काफी एक्टिव रही हैं और इस बार भी कुछ ऐसा विविदित ट्वीट किया है जिसके बाद लोगों ने जमकर मजाक उड़ाया है l

source

दरअसल बरखा दत्त ने अपना लिखा हुआ एक आर्टिकल शेयर किया जिसमें लिखा था कि “अगर मैं मुस्लिम होती तो आज ऐसा महसूस करती” बरखा ने अपने आर्टिकल में लिखा है कि उसने कुछ समय पहले किसी ने पूछा अगर आप मुसलमान होती हो तो आपको कैसा लगता ?  बरखा दत्त ने आगे कहा कि इस सवाल ने मुझे कई दिनों तक परेशान किया था जिसके बाद उन्होंने ये लिखा है l आपको बता दें बरखा दत्त ने अपने इस लेख की शुरूआत में लिखा है कि मैं शुरू से ही किसी भी धर्म को नहीं मानती हूँ, जब किसी फॉर्म में यह कोलौम आता है तो मैं उसे खाली छोड़ देती हूँ l

(यहाँ क्लिक करके पढ़ें पूरा आर्टिकल)

बरखा ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस्लामी आतंकवाद, तीन तलाक के कुछ मुस्लिम संगठनों द्वारा विरोध और राजनीतिक दलों द्वारा मुसलमानों का वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल का मुद्दा भी उठाया है। बरखा ने लिखा है कि अगर वो मुसलमान होतीं तो सोचतीं कि जिस तरह उनके “मॉडरेट” मुसलमान होने का हवाला देकर हर मुद्दे पर बोलने की उम्मीद की जाती है उसी तरह क्या देश के बड़े “मॉडरेट” हिंदू भी बोलेंगे?

 

ख़ास बात ये है कि बरखा की इस ट्वीट के बाद जो प्रतिक्रियाएं आई हैं उन्हेंजानकर आपको यकीन नहीं होगा, बरखा दत्त ने पत्रिका द वीक में लेख लिखकर बताया है कि अगर वो मुसलमान होतीं तो उन्हें आज के भारत में कैसा लगता? बरखा ने अपने लेख का लिंक ट्विटर पर शेयर किया तो उनके ऐसे जवाब मिले जिन्हें जानकर आपको यकीन नहीं होगा…

देखिये कुछ मजेदार जवाब..

इतना ही नहीं देखिये एक यूजर ने कमेंट सेक्शन में क्या लिखा..

बरखा दत्त बहुत दिनों से सुर्खियों में नहीं आ रही भारत की सेना और भारत की भूमिका किसी भी जगह इसे मंजूर नहीं भाजपा को तो किसी भी कीमत पर अच्छी पार्टी मानती ही नहीं विशेष कर जहा भी हिंदुत्व से जुड़ा कोई भी सवाल हो दिमाग में तथाकथित धर्मनिरपेछता का कीड़ा कुलबुलाने लगता है मुस्लिम आतंकवाद और उनके ऊपर हो रहे मनगढंड अत्याचारों को लेकर इनका दिल बहुत रोता है लेकिन देश को बचाने में सेवा करने में जिन जवानो ने बलिदान दिए जो व्यक्ति आतंकवादियों के हाथो मारे गए उन्हें शायद ये जायज मानती है मानवाधिकार सिर्फ आतंकवादियों के लिए लागू होता है सामान्य नागरिक को जीने का भी अधिकार है की नहीं उसके लिए इनका मानवाधिकार हमेशा चुप रहता है. देश को तोड़ने की भरपूर चेष्टा ऐसे लोगो ने की है पर सफल नहीं होंगे.

 

देखिये ट्वीट के जरिए आये कुछ और रिप्लाई..

इसी की तरह एक और यूजर ने कुछ ऐसा ही लिखा है…

बरखा दत्त बहुत दिनों से सुर्खियों में नहीं आ रही भारत की सेना और भारत की भूमिका किसी भी जगह इसे मंजूर नहीं भाजपा को तो किसी भी कीमत पर अच्छी पार्टी मानती ही नहीं विशेष कर जहा भी हिंदुत्व से जुड़ा कोई भी सवाल हो दिमाग में तथाकथित धर्मनिरपेछता का कीड़ा कुलबुलाने लगता है मुस्लिम आतंकवाद और उनके ऊपर हो रहे मनगढंड अत्याचारों को लेकर इनका दिल बहुत रोता है लेकिन देश को बचाने में सेवा करने में जिन जवानो ने बलिदान दिए जो व्यक्ति आतंकवादियों के हाथो मारे गए उन्हें शायद ये जायज मानती है मानवाधिकार सिर्फ आतंकवादियों के लिए लागू होता है सामान्य नागरिक को जीने का भी अधिकार है की नहीं उसके लिए इनका मानवाधिकार हमेशा चुप रहता है. देश को तोड़ने की भरपूर चेष्टा ऐसे लोगो ने की है पर सफल नहीं होंगे.

 

बता दें कई यूजर को बरखा कीई ये पोस्ट काफी पसंद भी आई है और कई लोगों ने इसकी तारीफ की है, यह आपकी सोच है आप इस पोस्ट को किस तरह से देखते हैं l