रयान स्कूल के बाद केन्द्रीय विद्यालय में हुआ बड़ा काण्ड, भरी दोपहर में सीधे घुसता चला गया…

1497

कुछ दिन पहले किस तरह से एक मासूम बच्चे प्रद्युम्न की स्कूल के बाथरूम में निर्मम हत्या कर दी गयी थी. उस मामले के बाद पुलिस ने बस के कंडक्टर को गिरफ्तार किया था और उस बस के कंडक्टर ने अपना गुनाह भी कबूल कर लिया था लेकिन इस पूरे हत्याकांड पर उस मासूम बच्चे की माँ का और पूरे परिवार का बोलना था कि जो आरोपी पकड़ा गया है वो असली आरोपी नहीं है वो सिर्फ एक मोहरा है बल्कि असली आरोपी तो कोई और ही है.

गुरुग्राम के जाने मानें स्कूल रयान इंटरनेशनल में हुई इस घटना ने दुनिया भर के सभी माँ-बाप को चिंता में डाल दिया है कि कहीं किसी दिन उनके भी बच्चे के साथ कुछ ऐसा ही न हो जाये. ऐसा ही एक मामला बिहार की राजधानी पटना से आया जहाँ ABP न्यूज़ के पत्रकार उत्कर्ष सिंह ने वहां के बेली रोड के केन्द्रीय विद्यालय-2 की जांच पड़ताल की जिसका नतीजा बहुत ही निंदनीय था.

आपको बता दें कि पत्रकार उत्कर्ष सिंह ने देखा कि केन्द्रीय विद्यालय में बच्चों कि सुरक्षा के लिए कोई भी इंतजाम नहीं किया हुआ था, जिसकी पड़ताल करने के लिए उत्कर्ष बिना किसी के परमीशन लिए स्कूल के अन्दर घुस गए और उन्हें स्कूल के अन्दर जानें से किसी ने रोका भी नहीं. इतना ही नहीं उत्कर्ष स्कूल के बाथरूम से लेकर बच्चों की क्लास तक घूम आये और उन्हें किसी ने ना ही देखा, न ध्यान दिया और न ही उन्हें रोका. उत्कर्ष पूरे स्कूल में 25 मिनट तक घूमते रहे फिर भी उन्हें किसी ने नहीं देखा.

अंत में जब उत्कर्ष जानें लगे तो उन्हें वहां के एक टीचर ने रोका और उन्हें प्रिंसिपल के पास ले गए जहाँ पहुचकर उत्कर्ष ने स्कूल प्रबंधक से ऐसे-ऐसे पूछ लिए जिसका जवाब प्रिंसिपल साहब कुछ भी दे रहे थे. या यूँ कहें कि प्रिंसिपल साहब डर की वजह से जो भी बोल रहे थे उनको खुद नहीं मालूम था कि वो क्या बोल रहे हैं हैं. पत्रकार उत्कर्ष सिंह ने प्रिंसिपल सेजब इस लापरवाही की वजह पूछी तो वो बेहद ही कमज़ोर दलील पेश करते नज़र आये. जी हाँ प्रिंसिपल साहब अपने बचाव में बोल रहे थे कि पहले और दूसरे सेशन के बीच थोड़ा गैप रहता है इसलिए यह दिक्कत आती है वरना शायद ना आती. नीचे दिए गए वीडियो में आप खुद देख सकते हैं कि कैसे उत्कर्ष पूरे स्कूल में घूम रहे हैं और कैसे प्रिंसिपल साहब अपने बचाव में बेहुदी दलील पेश कर रहे है.

देखें वीडियो- 

 

Loading...
Loading...