जापानी पीएम के भारत आने की असली वजह आई सामने, बुलेट ट्रेन तो बस बहाना है असली मकसद…

7041

भारत और जापान के रिश्तों को नया आयाम देने के लिए जापान के पीएम भारत के दौरे पर हैं. शिंजो आबे के इस दौरे को भारत में बुलेट ट्रेन के पोजेक्ट से जोड़ा जा रहा है और द्विपक्षीय संबंधों के लिए अहम माना जा रहा है, लेकिन जानकारों की माने तो वो इस दौरे को द्विपक्षीय संबंधों के दायरे में सीमित नहीं मान रहे.

source

जानकारों की मानें तो भारत और जापान मिलकर थर्ड वर्ल्ड कहे जाने वाले देशों में इंफ्रास्ट्रक्चर और कनेक्टिविटी बनाकर इस रिश्ते को और मजबूत बना रहे हैं. जानकारों का मानना है कि भारत और जापान मिलकर चीन की काट निकालने की कोशिश में भी हैं. चीन के अतिवादी रवैये को देखकर भारत और जापान के बीच रिश्तों को बेहतर करने की पहल और भी प्रासंगिक हो जाती है.

source

भारत और जापान के रिश्तों को नया आयाम देने के लिए जापान के पीएम भारत के दौरे पर हैं. शिंजो आबे के इस दौरे को भारत में बुलेट ट्रेन के पोजेक्ट से भले ही जोड़ा जा रहा हो लेकिन जानकारों को ऐसा नहीं लगता. जानकार मानते हैं कि मोदी और आबे की मुलाक़ात की मुख्य वजह ये भी है कि दोनों ही देश एशिया-अफ्रीका ग्रोथ कॉरिडोर जैसे प्रॉजेक्ट को भी गति देना चाहते हैं. भारत और जापान की साझेदारी से बनने वाले इस प्रॉजेक्ट में ईरान के चाहबहार बंदरगाह को विकसित करना भी शामिल है. इस प्रोजेक्ट से चीन के OBOR को भी काउंटर किया जाएगा. चीन को भी इसकी भनक लग गई होगी और हो सकता है कि वो जल्द ही कोई ऐसा काम करे जिससे भारत-जापान को झटका लग सके.

source

बात स्पष्ट है कि भारत और जापान इस मुलाक़ात में दोनों ही देशों के भविष्य को बेहतर बनाने के लिए बात करेंगे. उनकी बातचीत में चीन की विस्तारवादी सोच से निपटने का तोड़ भी निकाला जाएगा. पीएम मोदी देश के भविष्य को बेहतर करने के लिए कई नए प्रोजेक्ट पर भी जापानी पीएम के साथ बात कर सकते हैं.

Loading...
Loading...