औचक निरिक्षण पर थाने पहुंचे थे एसपी लेकिन सिपाही ने दरवाज़े पर ही रोककर पूछ लिया एक सवाल देखिए फिर क्या हुआ..

1516

कानपुर में औचक निरिक्षण का एक अद्भुत उदाहरण देखने को मिला जहाँ शुक्रवार की देरशाम चकेरी थाने में SP बिना किसी को कुछ कहे निरिक्षण पर निकल गये. बताया जा रहा है कि एसपी ईस्ट अनुराग आर्या घर के ही लोवर और टीशर्ट पहनकर अपनी साइकिल पर सवार होकर चकेरी थाने आ पहुंचे. पहले तो थाने के गेट पर पहरेदार नहीं था, दूसरा SP साहब जब थाने के अंदर पहुंचे तो वहां का नज़ारा हैरान करने वाला था. दरअसल दरोगा अपने रूम पर आराम करते हुए पाए गए.

बताया जा रहा है कि लॉकप के अंदर अंधेरे में एक बंदी को रखा गया था. थाने में पहुंचकर एसपी आधे घंटे तक थाने का मुआयना करते रहे, लेकिन किसी भी पुलिसकर्मी की उन पर नजर नहीं पड़ी. मौके पर मौजूद शख्स ने बताया कि इसी दौरान जब SP लॉकप के पास खड़े होकर बंदी से बातचीत कर रहे थे ठीक उसी समय संत्री ने उनसे पुलिसिया अंदाज में बात करने की कोशिश की, लेकिन जैसे ही वो पास गया तो उसके होश उड़ गए. SP को सामने देखकर संत्री ने उन्हें तुरंत ही सैलूट मारा और अपने काम के लिए उनसे माफ़ी मांगी. इसके बाद वो सीधे  इंस्पेक्टर के रूम में पहुंचे, जहां पर दरोगा उन्हें पहचान नहीं पाया. संत्री के इशारा करने पर उसकी नींद टूटी तो कुर्सी उठकर उन्होंने जय हिंद सर बोला. इससे पूरे थाने में हडकंप मच गया.

देखिये वीडियो: 

इसी दौरान जब वो लॉकप के पास पहुंचे तो पहरेदार की नजर उन पर पड़ी तो वो भी अपनी वर्दी संभालते हुए मौके पर पहुंचा. एसपी को पहचानते हुए उसने भी सैलूट किया, लेकिन उन्होंने कांस्टेबिल से चुप रहने को कहा. एसपी ईस्ट अनुराग आर्या ने क्राइम रजिस्टर चेक किया और पेंडिंग पड़े मामलों को डाटा खंगाला. इसके साथ ही लंबे अर्से से पेंडिंग पड़े मामलों पर थानेदार को जमकर फटकार लगाई. एसपी ने सभी चौकी इंचार्ज समेत थानेदार को कार्य में लापरवाही बरतने पर लाइन हाजिर करने की चेतावनी दी.