पीएम मोदी के जन्मदिन से जुडी इस बात को लेकर मच सकता है बवाल!

1530

भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए विरोधियों के पास आरोपों की कमी नही है. थोड़े दिनों के अंतराल के बार पीएम पर एक नए आरोप लगाये जाते हैं हालाकिं यह बात भी सत्य है कि लोग आरोपों को साबित करने में नाकाम हो रहे है. चाहे हो पीएम की डिग्री को लेकर या किसी और बात पर, मोदी ने सभी आरोपों पर खुलकर जवाब भी दिया हैं लेकिन अब प्रधानमंत्री के जन्मदिन को लेकर एक नया विवाद सामने आ गया है. इस विवाद को लेकर विपक्ष पीएम मोदी  पर हमलावर हो सकता है.

Source

आपको बता दें कि पीएम मोदी हर साल 17 सितम्बर को अपना जन्मदिन मानते हैं हर जन्मदिन पर मोदी अपनी माँ से मिलने जरुर जाते हैं. मोदी के समर्थक जगह-जगह केक काटकर या सब अपने-अपने तरीके से प्रधानमंत्री का जन्मदिन मानते हैं. इस समय सोशल मीडिया पर एक पोस्ट वायरल हो रहा है जिसमें कहा जा रहा है कि मोदी दो अलग दिन- 29 अगस्त और 17 सितंबर को पैदा होने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री बने. बूसी बसिया को इस अद्वितीय उपलब्धि की बधाई!

Source

गुजरात यूनिवर्सिटी की पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री में मोदी की जन्म तारीक 29 अगस्त 1949 लिखी हुई है. जबकि परिवार के अनुसार मोदी की जन्म तरीख 17 सितम्बर हैं. पीएम मोदी  की आधिकारिक वेबसाइट पर भी जन्मदिन 17 सितम्बर ही  लिखी हुई है. कांग्रेस के नेता शक्ति सिंह गोहिल ने कॉलेज की रजिस्टर बुक की प्रति दिखाते हुए कहा कि इसमें मोदी का जन्मदिन 29 अगस्त लिखा हुआ है और नाम भी नरेन्द्र दामोदरदास मोदी ही लिखा हुआ है.

कांग्रेस के नेता ने कहा कि हमने गुजरात यूनिवर्सिटी से स्नातक की डिग्री में जन्मदिन की तारिख को जानने के लिए आरटीआई के माध्यम से 70 बार जानकारी मांगी लेकिन हमें गोपनीयता का हवाला देते हुए जानकारी नही दी गयी. इसलिए अब पीएम मोदी को खुद सामने आना चाहिए और अपने अलग-अलग जन्म तारीख के बारे में देश को बताना चाहिए कि उनके पासपोर्ट, पैनकार्ड और अन्य कागजों में उनकी जन्मदिन क्या लिखा हुआ है?

Loading...
Loading...