कांग्रेस के आरोपों पर बोल पड़ा चुनाव आयोग, दिया ऐसा जवाब कि कांग्रेसी सन्न रह जाएंगे !

7309

गुजरात और हिमाचल प्रदेश में इसी साल चुनाव होने हैं और कयास लगाये जा रहे थे कि दोनों राज्यों में चुनाव की तारीखों का ऐलान एकसाथ होगा लेकिन ऐसा नही हुआ. 12 अक्टूबर को चुनाव आयोग ने सिर्फ हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा की, गुजरात की नही. इसको लेकर कांग्रेस ने चुनाव आयोग पर आरोप लगाया कि चुनाव आयोग प्रधानमंत्री के दबाव में काम करते हुए जान बूझकर तारीखों का एलान नहीं कर रहा है. कांग्रेस के इस आरोप के बाद अब चुनाव आयोग ने अपनी तरफ से कांग्रेस की बोलती बंद करने वाला जवाब दिया है.

Source

बता दें कि जनसत्ता की खबर के मुताबिक कांग्रेस ने खूब हल्ला मचाकर चुनाव आयोग पर आरोप लगाया कि वो प्रधानमंत्री के इशारों पर काम कर रहा है और पीएम मोदी गुजरात जाकर कुछ घोषणाएं कर सकें, इसलिए चुनाव की तारीखों का ऐलान नही हुआ. इसके जवाब में मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार ज्योति ने कहा कि ”गुजरात बाढ़ से प्रभावित था, राहत-बचाव काम भी पूरा कर लिया गया है, और अब जाकर स्थिति सामान्य बनी है, त्योहारों का मौसम भी अब ख़त्म हो गया है, एक-दो दिन में ही गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया जायेगा.”

Source

पीएम के दवाब में काम करने के आरोप पर जवाब देते हुए मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि “हम किसी को घोषणा करने से और ना ही किसी को गुजरात जाने से रोक सकते हैं. राहुल गांधी भी तो बार-बार गुजरात जा रहे हैं.” उन्होंने कहा कि “वोटरों को लुभाने के लिए सभी राजनेता स्वतंत्र हैं, आदर्श आचारसंहिता लागू होने के बाद ही हम किसी पर रोक लगा सकते हैं.” कांग्रेस के आरोप पर मुख्य चुनाव आयुक्त ने जिस तरीके से राहुल गांधी का उदाहरण बताते हुए कांग्रेस की बोलती बंद की है, वो उसके लिए सबक है.

Loading...
Loading...