ओवैसी ने जो कहा उससे कांग्रेस को नुकसान हो सकता है और बीजेपी को फायदा !

52

गुजरात विधानसभा चुनाव होने से पहले पाटीदारों का नेता बनने वाले हार्दिक पटेल ने कांग्रेस को समर्थन देने का फैसला किया है. ऐसे में कांग्रेस खुश है कि उसे सभी पाटीदारों का वोट मिल जायेगा लेकिन सच तो ये है कि हार्दिक पटेल के साथी ही उनका साथ छोड़ चुके हैं जिससे वो कमजोर नजर आ रहे हैं. वैसे बता दें कि गुजरात में पटेल 15 फीसदी हैं और पिछले कई चुनावों में उन्होंने बीजेपी का साथ दिया है लेकिन आरक्षण का राग अलापने के बाद इसमें कुछ दिक्कते आ रही थीं लेकिन अमित शाह की रणनीति ने इस दिक्कत को भी दूर कर दिया.

Source

बता दें काफी नाटकीय ढंग से हार्दिक पटेल ने कांग्रेस के साथ जाने का फैसला किया, इस साथ में शर्त ये है कि पाटीदारों को कांग्रेस आरक्षण देगी. इस शर्त के बाद मुस्लिमों के नेता के रूप में खुद को स्थापित करने वाले ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने अब एक ऐसा राग अलापा है कि कांग्रेस को दिक्कत हो सकती है और मुमकिन है कि बीजेपी को फायदा मिले. दरअसल पाटीदारों द्वारा आरक्षण की मांग पर सहमती बनते देख ओवैसी ने गुजरात के मुस्लिमों के लिए भी आरक्षण की बात कह दी है. इसमें कांग्रेस के लिए दिक्कत इसलिए होगी क्योंकि गुजरात में कांग्रेस समझती है कि 10 फीसदी मुस्लिम वोट हमेशा उनके साथ रहे हैं, लेकिन अब ओवैसी के बयान के बाद कांग्रेस परेशानी में पड़ सकती है.

Source

ABP न्यूज़ की खबर में मुताबिक ओवैसी ने कहा कि “कांग्रेस पाटीदारों को आरक्षण देने को राजी हो गई है, लेकिन मुस्लिमों को नहीं जो सामाजिक और शैक्षिक रूप से पिछड़े हैं.” वैसे जाहिर है कि आरक्षण के बल पर कांग्रेस वोट हथियाने की चाल चल रही है, लेकिन जबतक वो केंद्र में सरकार नही बनाती तबतक आरक्षण देने की बात बेईमानी सी है. वैसे ओवैसी का ये कहना कि “पटेलों को आरक्षण तो मुसलमानों को क्यों नहीं?” कांग्रेस की सांसे रोकने के लिए काफी है.

Loading...
Loading...