यूपी में हुए निकाय चुनाव में सपा-बसपा ने कर दी थी ये भूल !

39

यूपी में निकाय चुनाव ख़त्म हो गये हैं और नतीजे बीजेपी के लिए ख़ुशी देने वाले हैं. इतना ही नही इस निकाय चुनाव को सूबे के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी की परीक्षा के रूप में देखा जा रहा था. इस चुनाव के परिणाम पर कई सारे सवाल टिके थे जैसे, मोदी लहर, योगीराज का असर और जनता अभी भी बीजेपी को पसंद कर रही है या नही. इन सब सवालों का जब जवाब मिला तो सामने आया कि योगी को यूपी की जनता ने पूरे नंबर ही नही बल्कि विशेष वरीयता से पास कर दिया है.

Source

इस निकाय चुनाव के नतीजों की बात करें तो बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक उत्तर प्रदेश में 16 नगर निगम हैं जिसमें से भाजपा ने 14 में जीत दर्ज की है. इनता ही नही नगर पालिका और नगर पंचायत के नतीजे भी बीजेपी के लिए ख़ुशी की खबर लेकर आये हैं और वहां भी परचम लहरा उठा है. इन सबसे माना जा रहा है कि मोदी लहर अभी भी बरकरार है, लोगों का विश्वास अब भी बीजेपी में बना हुआ है. वैसे अगर निकाय चुनाव के प्रचार-रणनीति की बात करें तो कुछ चीजे ऐसी हैं जिसे विरोधी कभी भांप नही पाए और शायद यही वजह रही कि सपा और बसपा को हार का सामना करना पड़ा.

बता दें कि इस चुनाव को अपनी नाक का सवाल बनाकर मुख्यमंत्री ने योगी ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी. इसलिए उनकी रणनीति भी अव्वल दर्जे की रही. इतना ही नही जहां इस चुनाव में प्रचार के दौरान ना तो अखिलेश यादव और ना ही बसपा सुप्रीमों मायावती कभी प्रचार करने निकली वहीं योगी ने अपने मंत्रियों को जनता के बीच जाकर प्रचार करने का फरमान सुना दिया था. इतना ही नही इस चुनाव के नतीजों को लेकर भारतीय जनता पार्टी इतनी गंभीर थी कि पार्टी संगठन भी दिन-रात एक किये हुए था.

शायद यही रणनीति बीजेपी को दूसरी पार्टियों से एकदम अलग पेश करती है और यही वजह है कि लोग अब भी बीजेपी और मोदी सरकार में विश्वास बनाये हुए हैं. कुछ विशेषज्ञ यह भी मानते हैं कि जनता का विश्वास जिस तरीके से बीजेपी में बरकरार है उससे संभव है कि गुजरात चुनाव में भी बीजेपी को इसका फायदा मिले.

 

Loading...
Loading...