पाकिस्तान चीन के सहारे बहुत उछल रहा था लेकिन अब चीन ने ही दिखा दी उसकी औकात !

45

भारत से टक्कर लेने के इरादे से चीन पाकिस्तान को खूब सहायता प्रदान कर रहा है, चाहे हो सैन्य सहायता हो या फिर आर्थिक सहायता. चीन ने हमेशा पाकिस्तान को सहायता दी है, इस उम्मीद में कि वो भारत को टक्कर दे पायेगा. फ़िलहाल उसका ये सपना मोदी सरकार में पूरा होने से रहा. क्योंकि जिस तरीके से मोदी सरकार ने भारत की छवि को मजबूत तरीके से पेश किया है उससे चीन तो क्या कई बड़े देशों के हौसले पस्त हैं. अभी हाल ही में डोकलाम विवाद में चीन को भारत की ताकत का एहसास हुआ है और अब उम्मीद है आगे से चीन दादागिरी दिखाने से परहेज करेगा.

Source

फ़िलहाल अगर बात चीन और पाकिस्तान के बीच रिश्तों की करें तो अब कहा जा सकता है कि इनके बीच खटास की महक आने लगी है और इसका श्रेय भी मोदी सरकार को जाना चाहिए. क्योंकि वैश्विक स्तर पर जिस तरीके से मोदी सरकार ने इन देशों को बेनकाब किया है उससे चीन बौखलाया हुआ है. फ़िलहाल पंजाब केसरी की एक खबर के मुताबिक पाकिस्तान में बढ़ते भ्रष्टाचार को देखते हुए चीन ने पाकिस्तान को लेकर ऐसा फैसला लिया है कि पाकिस्तान सदमे है.

Source

बता दें कि पाकिस्तान में दखल देने की उम्मीद से बन रहे चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे को अब झटका लगने जा रहा है. दरअसल खबर है कि पाकिस्तान की छवि और उसके अंदर के बढ़ते भ्रष्टाचार को देखते हुए चीन ने कम से कम 3 बड़े रोड प्रोजैक्ट के लिए स्थायी रूप से फंड रोक दिया है. चीन के इस कदम से पाकिस्तान नेशनल हाइवे अथॉरिटी की अरबों डॉलर की परियोजनाओं को तगड़ा झटका लगा है. फंड रोके जाने का असर 210 किलोमीटर लंबी डेरा इस्माइल खान-झोब रोड पर पड़ेगा.

Source

एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक अब चीन की तरफ से नयी गाइडलाइन्स जारी होने के बाद ही फंड जारी किये जायेंगे. बता दें कि चीन ने जिस रोड प्रोजेक्ट के फंड रोके हैं वो उसका असर चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (CPEC) परियोजना पर भी पड़ा है. इस परियोजना के जरिए चीन का शिनजियांग इलाका पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत से जुड़ेगा.

Loading...
Loading...