महिला पुलिस को देखकर मनचले गा रहे थे अश्लील गाना, पुलिस ने रोका तो सपा नेता आ गया छुड़ाने, उसके बाद देखिये क्या हुआ !

51
सुल्तानपुर

आपको याद होगा कि उत्तर प्रदेश में आदित्यनाथ योगी के मुख्यमंत्री बनने के बाद एंटी रोमियो स्क्वाड बनाया गया था जिसका लक्ष्य मनचलों पर लगाम लगाना था. जरा सोचिए कि तब क्या हो, जब इस दल की महिला सदस्य ही मनचलों का शिकार हो जाएं. मामला उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले का है. थाना चांदा के अंतर्गत कोथरा गाँव में एक ऐसा ही वाकया सामने आया है जिसमें मनचलों ने एंटी रोमियो दल की महिला सिपाहियों पर अपना दांव आजमाना चाहा. हद तो तब हो गयी जब पुलिस की तरफ से कहा गया कि वो एंटी रोमियो दल से हैं, उसके बाद भी मनचले अपनी करतूतों को अंजाम देते रहे.

सांकेतिक

बता दें कि इस मामले में हुई FIR के मुताबिक इन मनचलों के खिलाफ कई दिनों से शिकायते मिल रही थी कि ये मनचले स्कूल जाने वाली लड़कियों पर छीटाकशी व उनसे छेड़खानी करते हैं. इस शिकायत की पुष्टि करने के लिए एंटी रोमियो दल की तरफ से महिला आरक्षियों को पहचान छिपाते हुए कोथरा तिराहे पर निगरानी के लिए खड़ा किया गया. इन्हें वहां देख, दो लड़के सलमान खान और रवि निषाद, इन महिला आरक्षियों पर छीटाकशी करने लगे और अश्लील गाने गाते हुए इनके पास से बार-बार गुजरने लगे. इनकी हरकतों से इस बात की पुष्टि हुई कि यही वो मनचले हैं जो स्कूली छात्राओं पर फब्तियां कसते हैं और उनसे छेड़खानी करते हैं. बाद में महिला आरक्षियों के साथ ऐसी हरकत करते देख दूर खड़ी पुलिस की टीम पास आ गयी और उन्हें हिदायत देने लगी.

FIR की कॉपी

FIR के मुताबिक पुलिस मनचलों को हिदायत दे ही रही थी कि वो इतने में उत्तेजित हो गये. जिसके बाद तिराहे पर मौजूद वाहिद खान उर्फ़ बबलू, जो सपा नेता भी है, पुलिस टीम के पास आ गया और तेज आवाज में बोलते हुए कहा कि ‘ये मेरे ही परिवार के हैं और ये कहीं नहीं जायेंगे, जो कहना है, जो करना है यहीं करो.’ हालाँकि पुलिस के आगे उनकी एक ना चली और मनचलों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. इतना ही नही सरकारी कार्य में बाधा पहुँचाने और मनचलों को बचाने को लेकर पुलिस ने वाहिद खान को भी गिरफ्तार कर लिया.

क्या है पूरा मामला

दरअसल इसी थाने के अंतर्गत आने वाले लालजी सिंह महिला महाविद्यालय के पास कुछ दिनों से कुछ मनचले अपनी हरकतों को अंजाम दे रहे थे. इस महाविद्यालय में पढ़ने वाली छात्राओं को परेशान करते थे और उनपर छीटाकशी, बदसलूकी करते थे. जिसकी शिकायत स्कूल प्रशासन द्वारा की गयी थी.

कौन है वाहिद खान

वाहिद खान की होर्डिंग का एक प्रारूप

बता दें कि वाहिद खान समाजवादी पार्टी का यूथ ब्रिगेड जिला (सुल्तानपुर) उपाध्यक्ष है. पुलिस के रिकॉर्ड के अनुसार वाहिद थाना चांदा का सक्रिय अपराधी भी है. मनचलों को बचाने से पहले भी वाहिद के सिर कई संगीन अपराध जड़े हुए हैं. यूपी की अखिलेश सरकार में वाहिद खान ने सत्ता का खूब फायदा उठाया था. सत्ता तो बदल गयी लेकिन वाहिद के सिर पर सत्ता का नशा बरकरार रहा. वाहिद के बारे में स्थानीय बातें हैं कि वो खुद को रसूखदार समझता है और स्थानीय नेताओं की शह में अपनी गतिविधियों को अंजाम देता है. पीड़ितों का आरोप है कि इसके ही दमपर स्थानीय मनचले लड़कियों के साथ रास्ते में छेड़खानी करते हैं. कहते हैं कि वाहिद चुनाव लड़ने वाले नेताओं के लिए मुस्लिम वोटों का जुगाड़ करता है.