मदद की गुहार में सुषमा स्वराज ने सरकारी खर्चे का जिक्र करते हुए कहा कुछ ऐसा कि…

विदेशमंत्री सुषमा स्वराज को लेकर फिर से एक ऐसी खबर सामने आई है जिसके बाद से समर्थक हों या फिर विरोधी सबके मन में उनके प्रति सम्मान बढ़ जायेगा. दरअसल मोदी सरकार में विदेशमंत्री सुषमा स्वराज जी की कार्यशैली कुछ ऐसी है कि हर कोई उनकी तारीफ़ करता है. किसी भी देश से, किसी भी समय आप विदेशमंत्री सुषमा स्वराज को टैग कर अपनी बात कहिये, आपकी समस्या का हल मिल ही जाता है. इस बार मामला मलेशिया से है. बता दें कि मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर हवाईअड्डे पर एक भारतीय महिला के बेटे की मृत्यु हो जाती है, जिसके बाद विदेशमंत्री से मदद मांगी गयी और उसके बाद जो हुआ भारतीय होने के नाते गर्व करने को मजबूर करता है.

दरअसल एक भारतीय माँ अपने बेटे के साथ ऑस्ट्रेलिया से भारत आ रही थी, लेकिन कुआलालंपुर हवाई अड्डे पर अचानक उसके बेटे की मृत्यु हो गयी, ऐसे में उस माँ को समझ नहीं आ रहा था कि क्या करे और कैसे वहां से निकले. तभी हवाई अड्डे पर ही मौजूद एक व्यक्ति जिसका नाम रमेश है (भारतीय) ने ट्वीट करके इसकी जानकारी सुषमा स्वराज जी को दी.

उस व्यक्ति ने सुषमा स्वराज जी को ट्वीट करते हुए लिखा कि “एक माँ अपने बेटे की मृत्यु पर शोक में ही नही बल्कि उसे इस बात की भी चिंता है कि वो अपने बेटे के मृत शरीर को भारत कैसे ले जाये. अगर आप मदद कर सकें तो बड़ी कृपा होगी.”

 

इस ट्वीट के बाद विदेशमंत्री सुषमा स्वराज जी ने युद्धस्तर पर कार्रवाई की और जवाब देते हुए ट्वीट किया कि “उन्हें(महिला को) चिंता नहीं करनी चाहिए, इंडियन हाई-कमीशन के अधिकारी कुआलालंपुर एअरपोर्ट पहुंच रहे हैं, और सरकार के खर्च पर मृत शरीर को भारत लाया जाएगा.”

एक दूसरा ट्वीट करते हुए सुषमा स्वराज जी ने लिखा कि “भारतीय उच्चायोग के अधिकारी मां और उसके बेटे के शव के साथ मलेशिया से चेन्नई आ रहे हैं. शोक संपतप्त परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं.”

बता दें कि सुषमा जी के इस कार्य पर लोगों ने उनकी जमकर तारीफ की. देखते ही देखते सोशल मीडिया सुषमा जी की तारीफों से पट गया. लोगों ने उन्हें अबतक का सबसे बेहतरीन विदेशमंत्री बता दिया.