जरा पाकिस्तान में आतंकी हाफिज सईद की हालत तो देखिये, मोदी सरकार का लोहा मानेंगे !

भारत का पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान, जो खुद आतंकवाद से ग्रसित है लेकिन उसके बाद भी धार्मिक कट्टरता के चलते आतंकवाद को पनाह और जन्म दे रहा है. उसकी इस हरकत से भारत को भी नुकसान होता आया है. मोदी सरकार ने इससे निपटने के लिए विश्व पटल पर पाकिस्तान को बेनकाब करने की खूब कोशिश की है. ये मोदी सरकार का ही असर है कि जिस पाकिस्तान को पिछले कई सालों अमेरिका आर्थिक मदद देता आ रहा था अब उसने इस मदद पर लगाम लगाने की बात की है. जिसके बाद पाकिस्तान को आर्थिक मदद तो रुकी लेकिन उसकी सारी असलियत भी सामने आ गयी.

Source

पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी है

जब पाकिस्तान को लगा कि अब पैसा नहीं मिलने वाला और दुनिया के सामने उसकी सच्चाई सामने आ जाएगी तो उसने अपने देश के अंदर ही आतंकवाद का पर्याय बने और मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया. बता दें कि हाफिज सईद को लेकर भारत कई बार सबूत भी पेश कर चुका है लेकिन इसके बाद भी हाफिज सईद पाकिस्तान में खुलेआम घूमता रहा है. अब जबकि मोदी सरकार ने पाकिस्तान के आतंकवाद के खिलाफ बाकी देशों के सामने आवाज बुलंद की तो पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी है.

Source

हाफ़िज सईद को मिलने वाली चैरिटी जब्त

ABP न्यूज़ के मुताबिक पाकिस्तान को भारत और अमेरिका के दबाव में हाफिज सईद के खिलाफ कार्रवाई करनी पड़ी है. बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खक्कान अब्बासी का बयान आया है जिसमें उन्होंने कहा है कि 26/11 मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड आतंकी हाफ़िज सईद को मिलने वाली चैरिटी को जब्त कर लेंगे.

हाफिज सईद को लेकर पाकिस्तान में बना प्लान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने ये भी कहा है कि “पाकिस्तान में इस मामले को लेकर हमें सबका समर्थन हासिल है और यूएन ने जो भी पाबंदियां लगाई हैं उन्हें लागू करने के लिए सभी प्रतिबद्ध हैं. हमारी सरकार ने इस मामले में पूरा प्लान बना लिया है कि कैसे हाफ़िज सईद को मिलने वाली फंडिंग पर शिकंजा कसा जाए. आपको बता दें कि आतंकी संगठन जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद ने पाकिस्तान की राजनीति में भी कदम रखने की कोशिश की है और इसके लिए उसने फतह-ए-इंसानियत नामक पार्टी भी बनाई है. जिसके लिए काफी लोगों ने जमकर फंडिग की है. अब चैरिटी जब्त होने के बाद आतंकी हाफिज सईद के घटिया इरादों को झटका लगेगा.

Source

भारत की कूटनीति का असर

भारत ने जिस तरह से पाकिस्तान और उसकी करतूतों को दुनिया के सामने लाकर रखा है और उसे घेरने की कोशिश की है उसके चलते अमेरिका ने भी पाकिस्तान पर पाबंदियां लगानी शुरू कर दी. उसी का असर है कि पाकिस्तान को मजबूर होकर आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई करनी पड़ रही है.