सेना ने ओवैसी को दिया ऐसा मुंहतोड़ जवाब कि जरा सी भी शर्म होगी तो…

सुंजवान आर्मी कैंप पर आतंकी हमला होने पूरे देश में गुस्सा है लेकिन कुछ लोग देश में ऐसे भी हैं कि उन्हें अपनी राजनीतिक रोटियां ही सेंकनी हैं. इनमें सबसे पहला नाम ओवैसी का आता है. दरअसल ओवैसी ने इस हमले में शहीद हुए जवानों पर बयान देते हुए कहा था कि “सुंजवान में शहीद हुए सात में से पांच लोग कश्मीरी मुसलमान थे, ऐसे में मुस्लिमों को गलत नजर से देखने वालों को सबक लेना चाहिए.” सेना में भी धर्म की राजनीति करने वालों की सोच को आप आसानी से समझ सकते हैं कि कैसे वो देश को तोड़ने की राजनीति कर रहे हैं. ऐसे ही लोगों को सेना की तरफ करारा जवाब दिया गया है.

NBT की खबर के मुताबिक सेना की उत्तरी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अनबू ने देश को धर्म के आधार पर बांटने वालों को मुंहतोड़ जवाब दिया है. लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अनबू ने ओवैसी का बिना नाम लेते हुए कहा कि “हम अपने जवानों की शहादत को साम्प्रदायिक रंग नहीं देते हैं, जिन लोगों को सेना की कार्यप्रणाली नहीं पता होती वो लोग ही इस तरीके से बयान देते हैं.”

जनरल देवराज अनबू ने ये भी कहा कि “दुश्मन हताश हो चुका है और जब वो सीमा पर असफल होता है तो कैंप को निशाना बनाता है.” सख्त शब्दों में जनरल ने ये भी कहा कि “जो भी देश के खिलाफ खड़ा होगा वो हमारे लिए आतंकी है और हम उससे सख्ती से निपटेंगे.”

Source

फ़िलहाल शहादत पर साम्प्रदायिकता का रंग चढ़ाने वालों को जनरल ने मुंहतोड़ जवाब दिया है. उम्मीद है ओवैसी जैसों को आसानी से समझ आ गया होगा कि सीमा पर शहीद होने वाला जवान धर्म के लिए बल्कि देश के लिए शहीद होता है.