नीतीश ने लालू को दिया था झटका अब उनकी पार्टी से भी आई बुरी खबर!

बिहार में कल से राजनीतिक भूचाल मचा हुआ है| काल शाम को नीतीश कुमार के इस्तीफा के बाद बिहार की राजनीति में हंगामा मचा हुआ है| फिलहाल इस समय भी नीतीश कुमार बिहार के मुख्यमंत्री भी है आज सुबह ही नीतीश बीजेपी के समर्थन से दोबारा मुख्यमंत्री बन गये है और सुशील मोदी को उपमुख्यमंत्री बनाया गया है प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर नीतीश कुमार को बधाई दी| नीतीश के इस्तीफ़ा देने के तुरंत बाद लालू प्रसाद यादव ने नीतीश पर हमलाबोलना शुरू कर दिया . इस सब के बाद कुछ लोगो को नीतीश का यह कदम रास नही आ रहा है| खबर है कि जेडीयू के कुछ नेता नाराज़ है.

Source

इन सब के बीच लालू के पार्टी के नेता भी लालू से नाराज है खबर है कि लालू के पार्टी के कुछ नेता बगावत भी कर सकते है. वो लालू के अड़ियल रवैये से नाराज़ है. उनका कहना है कि सिर्फ लालू के अड़ियल रवैए की वजह से ही आज हम सत्ता से बाहर है| लालू के पार्टी के विधायक महेश्वर यादव ने गठबंधन तोड़ने के लालू और उनके पुत्र तेजस्वी यदाव को जिम्मेदार बताया है और कहा- महागठबंधन टूटने का मुख्य कारण लालू का पुत्र मोह और लालू और तेजस्वी  की जड़ ही है. नीतीश तो किसी दागी को अपने मंत्रिमंडल में भी नहीं रखते.

Source

महेश्वर यादव ने कहा कि सीबीआई के द्वारा केस दर्ज किये जाने के बाद ही अगर तेजस्वी यादव अगर इस्तीफा दे दिया होता तो शायद आज सत्ता में हम भी होते और गठबंधन न टूटता. उन्होंने दावा किया कि नीतीश जैसी सोच रखने वाले कई नेता रजद में भी है| आगे के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि हम मिल बैठकर सोचकर आगे की रणनीति तय करेंगे. ऐसा कहा जा रहा है कि लालू के पार्टी में भी फूट पड़ने की आशंका जताई जा रही है कुछ विधायक रजद छोड़कर बीजेपी या जेडीयू में भी जा सकते है. वैसे आज यह भी खबर आ गई कि लालू और उनके परिवार पर  ED ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस भी दर्ज कर लिया है| कुल मिला जुलाकर यह समझा जा रहा है कि लालू का वक़्त बहुत ख़राब चल रहा है|

Source

कई विधायक और पार्टी के कार्यकर्ताओं का कहना है कि लालू की जिद की वजह से गठबंधन टूटा है लेकिन लालू गठबंधन टूटने का मुख्य कारण नीतीश कि मानते है उन्होंने कहा कि नीतीश बीजेपी और आरएसएस से मिल गये है इसलिए उन्होंने हमसे गठबंधन तोड़ लिया और बीजेपी की गोंद में जाकर बैठ गए है| इसी के साथ लालू लगातार कल से नीतीश कुमार और बीजेपी पर हमला बोल रहे है वैसे सयोंग ही हो सकता है कि बिहार लालू की पार्टी टूट रही थी और रांची में लालू को कोर्ट में पेश होने के लिय जाना था|


लालू यादव ने बताया कि नीतीश कुमार पर जो आरोप लगा है उस केस में नीतीश कुमार फ़ासी या फिर उम्रकैद की ही सजा होगी| इसी से बचने के लिए नीतीश कुमार बीजेपी के साथ मिल गये|  आपकी जानकरी के बता दें कि नीतीश कुमार एक बार फिर मुख्यमंत्री पद की शपथ ले चुके है| बीजेपी के सहयोग से  महज 15  घंटे के भीतर नीतीश कुमार दुबारा मुख्यमंत्री बन गये| बीजेपी की तरफ से उपमुख्यमंत्री के तौर पर सुशील मोदी को शपथ दिलाई गयी| इसी के साथ बिहार में एक बार फिर बीजेपी और जेडीयू के गठबंधन वाली सरकार बन गयी| नीतीश कुमार 4 साल बाद फिर बीजेपी के पास वापस लौट आये है|

 

Facebook Comments