सारी हेकड़ी निकल गयी दाऊद इब्राहिम की, मोदी सरकार के आगे एक नही चल रही

साल 93 में मुंबई बम ब्लास्ट के बाद दाऊद इब्राहिम को भारतीय एजेंसियां तलाश रही हैं लेकिन तब से भारत के पास बस इतनी खबर आती रही कि दाऊद कहां है लेकिन अब मोदी सरकार में शिकंजा कसने के बाद उसकी हालत पतली होने लगी है. दाऊद इतना बौखलाया हुआ है कि उसके गुर्गे फोन करके अपनी खिसियाहट बयां कर रहे हैं. दरअसल मुम्बई में दाऊद इब्राहिम की कुल 12 संपत्तियां हैं और अब मोदी सरकार में उसकी संपत्तियों की नीलामी हो रही है. पहले दाऊद के नाम से ही लोग कांपते थे और उसकी संपत्ति खरीदने से डरते थे लेकिन अब ऐसा नही है. लोग उसके नाम का डर मिटाने के लिए उसकी सम्पत्ति को खरीदना चाहते हैं. अगर ये सब संभव हुआ है तो उसमें मोदी सरकार का काफी अहम रोल है.

Source

11.5 करोड़ में हुई नीलामी

आजतक की खबर के मुताबिक मुंबई चर्चगेट के आईएमसी बिल्डिंग में स्थित किलाचंद कांफ्रेंस रूम में दाऊद इब्राहिम की संपत्तियों की  नीलामी हुई. इन संपत्तियों को सैफी बुरहानी अपलिफ्टमेंट ट्रस्ट ने 11.5 करोड़ रुपये में खरीदा है. इसमें रौनक अफरोज होटल, डांबरवाला बिल्डिंग और शबनम गेस्ट हाउस शामिल हैं. इस नीलामी के बाद से दाऊद इब्राहिम और उसकी गैंग पूरी तरह से बौखलाई हुई है. ये बौखलाहट कुछ इस तरह की है कि फोन करके धमकी दी जा रही है.

Source

दाऊद की कार खरीदकर जला दिया

दाऊद और उसकी कम्पनी के डर को कम करने के लिए उसकी संपत्तियों को नीलामी में खरीदने वाले हिंदू महासभा के अध्यक्ष स्वामी चक्रपाणी महाराज ने कुछ ऐसा किया है जो उनकी हिम्मत की गवाही देता है. साल 93 में मुबई को दहला देने वाले बम ब्लास्ट का मास्टर माइंड दाऊद इब्राहिम की कार की नीलामी जब पिछली बार हो रही थी तब चक्रपाणी महराज ने उस कार को खरीदकर जला डाला था. उन्होंने ऐसा दाऊद के भय को ख़त्म करने के लिए किया था. वहीं कोई दूसरा दाऊद की सम्पत्ति को छूने से कतराता था. इतना ही नही इस बार चक्रपाणी महराज का इरादा था कि वो दाऊद के होटल को खरीदकर उसमें शौचालय बनवाना चाहते थे. हालांकि इस बार उन्हें सफलता नही मिल पाई.

Source

बौखलाहट में देखिये क्या कर रहा है उसका गैंग

बता दें कि आजतक के पत्रकार वीरेंद्र सिंह को एक फोन आया और उसमें धमकी देते हुए कहा गया कि “क्या साल 1993 के मुंबई धमाके की घटना भूल गए हो? क्या इसको दोहराना पड़ेगा ?” दाऊद के गुर्गे ने फोन पर ये भी कहा कि “मोदी दाऊद इब्राहिम को छू भी नही सकते.” इतना ही नही दाऊद की सम्पत्ति खरीदने वाले को भी धमकी मिली है, कहा गया है कि “भाई की जमीन पर काम करने की हिम्मत भी मत करना.” जिस नम्बर से कॉल आया वो पाकिस्तान के कराची का है जिससे साफ़ होता है कि दाऊद का तंत्र पाकिस्तान में चल रहा है. फ़िलहाल ऑडियो टेप मुंबई पुलिस को दे दिया है.

 

Facebook Comments