बड़ी खबर: अमरनाथ यात्रियों पर हमले का भारतीय सेना ने लिया पहला बदला.

सावन के पहले सोमवार पर ही आतंकियों द्वारा अमरनाथ यात्रियों पर हमला किया गया था. इस हमले में जहाँ 7 श्रद्धालुओं की मौत हो गयी थी तो वहीँ 19 लोग घायल भी हुए थे. इस हमले के पीछे एक बड़ी वजह बताई गयी कि हो ना हो पिछले कुछ समय में आतंकियों के हर वार का भारतीय सेना द्वारा दिया गया मुंहतोड़ जवाब ही एक बड़ा कारण है जिसकी बौखलाहट में आतंकियों ने ये हमला किया. हालाँकि इस बात को आधार तो नहीं माना जा सकता लेकिन इसे गलत ठहराने का भी कोई ठोस कारण हमे नहीं नज़र आ रहा. भारतीय सेना का उग्र रूप देखकर अब शायद आतंकी भी समझ गए हैं कि अब अगर वो भारत पर गलती से भी एक वार करते हैं तो भारतीय सेना उन्हें कहीं का नहीं छोड़ेगी.

भारतीय सेना ने लिया पहला बदला

ऐसे में निर्दोष अमरनाथ यात्रियों पर हुए अफसोसजनक हमले के बाद भला भारतीय सेना क्यों ही चुप रहती? तो हम आपको बता दें  कि अभी आई एक खबर के मुताबिक जम्मू-कश्मीर के बडगाम इलाके में सुरक्षा बलों ने एक बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए तीन आतंकवादियों को मौत के घाट उतार दिया है.

source

बताया जा रहा है सेना और सुरक्षा बलों के बीच ये  मुठभेड़ मंगलवार से ही लगातार जारी थी. ऐसे में अब आई इस बड़ी खबर के अनुसार  सुरक्षाबलों ने बुधवार तड़के ही तीन आतंकियों को ढेर करने मे सफलता पाई है. बताया जा रहा है कि इन तीनो आतंकियों के पास से बड़े पैमाने पर हथियार और विस्फोटक सामग्री बरामद हुई है जिससे अंदाज़ा लगाया जा रहा है कि ये आतंकी अमरनाथ यात्रा के बाद भी किसी बड़े हमले की फ़िराक में थे, लेकिन वो कुछ भी गलत कर पाते इससे पहले ही वो भारतीय सेना के हत्थे चढ़ गए.

source

ख़बरों के अनुसार सुरक्षाबलों ने मंगलवार देर रात को एक गांव में आतंकियों को घेर लिया था और तब से ही रुक-रुक कर सेना और आतंकियों के बीच गोलीबारी जारी थी. इस बात की जानकारी देते हुए एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि सोमवार को अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले के बाद आतंकवादियों की तलाश में सुरक्षा बल महगाम इलाके में तलाशी अभियान चला रहे थे कि इसी दौरान एक गांव में घेराबंदी डाले  सुरक्षा बलों की एक संयुक्त टीम पर देर शाम 7.30 बजे आतंकवादियों ने गोलीबारी कर दी, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हुई।

भारतीय सेना का ये कदम, अमरनाथ में मारे गए बेकसूर यात्रियों की मौत का पहला बदला माना जा रहा है. बताते चलें कि पिछले काफी समय से सेना का आतंकियों पर उग्र रूप देखने को मिला है जहाँ आतंकियों के एक वार पर सेना पलटवार करते हुए उन्हें ऐसी पटकनी देती है जिसके बाद आतंकियों की बौखलाहट उजागर हुई है.

बताया जा रहा है कि  गांव को घेरकर आतंकवादियों से लोहा लेने वाली टीम में सीआरपीएफ, सेना की ऐंटी टेरर यूनिट राष्ट्रीय राइफल्स और जम्मू एवं कश्मीर पुलिस का विशेष अभियान समूह शामिल है. रिपोर्ट के मुताबिक, मृतकों की शिनाख्त अभी तक नहीं हो पाई है. लेकिन बताया जा रहा है कि वे स्थानीय ही हैं. हालांकि, वे किस संगठन से जुड़े हुए हैं, इसके बार में भी अभी तक कोई जानकारी नहीं मिली हैं.

Facebook Comments