CM के काफिले के आगे आ गया एक शख्स, इधर सीएम की सुरक्षा में तैनात अधिकारी हैरान-परेशान थे तो उधर उस युवक ने…

हमारे देश की खासियत कहिये या फिर कमी लेकिन यहाँ नेताओं और मंत्रियों के काफ़िले को काफी तवज्जो दी जाती है| ये आज का ये किसी एक सरकार का किस्सा नहीं है बल्कि हर ही सरकार में ऐसा देखने को मिलता है| किसी मंत्री या नेता का काफ़िला निकलना है तो चाक-चौबंध इस हिसाब से की जाती है कि फिर उस काफ़िले में कोई परिंदा भी बिना इज़ाज़त पर भी ना मार सके, लेकिन ऐसे में मध्यप्रदेश की राजधानी में भोपाल में उस वक़्त एक अजीब वाकया देखने को मिला जब अचानक ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के काफ़िले के सामने एक शख्स आ गया जिसने मुख्यमंत्री के काफ़िले को काफी समय के लिए बिना किसी वजह ही रोक लिया|

source

यूँ अचानक ही से मुख्यमंत्री के सामने एक शख्स का आ जाना किसी हैरानी से कम नहीं था| इधर मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात गार्ड्स हैरान परेशान थे उधर मुख्यमंत्री के काफ़िले के सामने आया शख्स  मानो काफ़िले के सामने से टस-से-मस ना होने की कसम खा कर आया हो| मामले को गंभीर होता देख लोगों ने अब पुलिस को बुलाने का फैसला कर लिया|  बताया जा रहा है कि युवक ने पुलिस द्वारा रोके जाने के बाद भी गाड़ी से उतरने से न केवल इंकार कर दिया, बल्कि पुलिस को गाड़ी ले जाने से भी रोक दिया।

source

पुलिस के सामने भी इस शख्स की ऐसी हरकत देखकर अब लोगों को चिंता होने लगी, लेकिन मुख्यमंत्री की सुरक्षा में सेंध लगती देख अब पुलिस ज्यादा देर तक रुक नहीं सकते थे और इसलिए उन्होंने  युवक की गाड़ी को पुलिस क्रेन से खिंचवाकर थाने तक ले जाने का फैसला किया| भोपाल उत्तर पुलिस अधीक्षक अरविन्द सक्सेना ने मामले का ज़िक्र करते हुए बताया कि सुबह राजधानी के कोहेफिजा थाना क्षेत्र से गुजर रहे मुख्यमंत्री चौहान के काफिले के रास्ते में एक गाड़ी आ रही थी। काफी कोशिशों के बाद भी उस गाड़ी ने मुख्यमंत्री के काफिले को रास्ता नहीं दिया।

source

ये सिलसिला लम्बा खिंचता देख थोड़ा आगे जाकर पुलिस ने घेराबंदी कर उस गाड़ी को रोक लिया और उसमें सवार अंबिका तिवारी नाम के युवक को गाड़ी से उतरने को कहा। तो यहाँ भी कहाँ ही ड्रामा थमने वाला था? पुलिस के बार-बार अनुरोध के बाद भी युवक गाड़ी से नही निकल रहा था| काफी समय बाद जब युवक काफी मशक्कत के बाद गाड़ी में से उतरा तो राजधानी निवासी अपने “ऊँचे रसूख” वाले  पिता का रुतबा दिखाते हुए गाड़ी को पुलिस थाने ले जाने से इंकार कर दिया। ऐसे में जब पुलिस के सब्र का बाँध टूटा तो वो गाड़ी को कुछ दूर तक क्रेन से खिंचवा कर थाने ले गये। पुलिस अधीक्षक अरविन्द सक्सेना के मुताबिक युवक पर सड़क पर किसी काफिले में अवरोध पैदा करने संबंधित धारा के तहत मामला दर्ज किया गया है, जिसके बाद अभी उससे पूछताछ की जा रही है हालाँकि बताया जा रहा है कि युवक का कोई आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है।

Facebook Comments