पैगम्बर मोहम्मद को लेकर किये गए आपत्तिजनक पोस्ट पर छिड़ी हिंसा के बाद मोहम्मद कैफ़ कूदे मैदान में और कहा “पैगम्बर मोहम्मद…

एक फेसबुक पोस्ट पर छिड़ी पश्चिम बंगाल में साम्प्रदायिक हिंसा थमने का नाम ही नहीं ले रही. एक पोस्ट से शुरू हुआ बवाल अब बढ़ते-बढ़ते अब बशीरहाट के आसपास के इलाकों तक फैलती जा रही है. हिंसा इस कदर बेकाबू हो चुकी है कि अब पुलिस और सुरक्षाबलों को देश में शान्ति बनाये रखने के लिए तैनात कर दिया गया है. आज्ञा न होने के कारण बुधवार को पुलिस को हिंसा को काबू करने में मदद तो मिली लेकिन आगजनी और हिंसा की थोड़ी बहुत घटनाएं जरुर हुईं. इसी बीच भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद कैफ़ ने भी इन दंगों के मुद्दे पर एक ट्वीट किया जिसके बाद लोगों ने उसपर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं देनी शुरू कर दी.

source

क्या कहा मोहम्मद कैफ़ ने

यूँ तो देश के ऐसे कई मुद्दे होते हैं जिनपर हमारे सेलेब्रिटीज बढ़-चढ़ कर ट्वीट करते हैं और ये दिखाने की कोशिश करते हैं कि वो देश के कितने जागरूक नागरिक हैं लेकिन देखा गया है जब भी देश में इस तरह का (किसी धर्म से जुड़ा ) कोई भी मुद्दा उठता है तो लोग चाह कर भी इसपर कुछ नहीं बोलते, लेकिन मोहम्मद कैफ़ ऐसे नही हैं. उन्होंने समय-समय पर  देश के हर छोटे-बड़े मुद्दे पर ट्वीट करके ये साफ़ किया है कि उन्हें  देश की चिंता भी है और वो अपना पक्ष रखने में ज़रा भी नहीं हिचकते.

ऐसे में पश्चिम बंगाल में छिड़ी हिंसा के मुद्दे पर मोहम्मद कैफ़ ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि, “पैगम्बर मुहम्मद साहब इतने महान हैं कि उनके अपमान में किये गए फेसबुक पोस्ट के खिलाफ बचाव करने के लिए किसी की जरूरत नहीं है. सिर्फ इतना ही नहीं अपनी बात रखते हुए मोहम्मद कैफ़ ने आगे कहा कि, “करोड़ों की संपति को नुकसान पहुंचाना और हिंसा करना मोहम्मद साहब के बताए रास्ते के खिलाफ है, और ऐसा करने वाले लोगों को अपने आप में शर्म आनी चाहिये.”

source

इसपर क्या थी लोगों की प्रतिक्रिया?

वाकई मोहम्मद कैफ़ का ये ट्वीट और उनका ये बयान कई बातों को साफ़ कर देता है. आखिर एक फेसबुक पोस्ट पर पूरे देश में अशांति फैलाना कहाँ तक जायज़ है? इसी बात के मद्देनजर मोहम्मद कैफ़ के इस ट्वीट ने ना सिर्फ लोगों का ध्यान अपनी तरफ खींचा बल्कि लोगों ने मोहम्मद कैफ़ की ऐसी सोच पर भी उनकी खूब तारीफ की.

source

कहीं फतवा ना जारी हो जाये

मोहम्मद कैफ़ के इस ट्वीट करने की देरी ही थी कि लोगों ने इस ट्वीट पर कमेंट की झड़ी लगा दी. इस ट्वीट पर एक यूजर ने चुटकी लेते हुए कहा कि, “सर आपने इतनी बड़ी बात बोल तो दी है लेकिन अब कहीं आप पर फतवा ना जारी हो जाये.”

तो वहीँ एक दूसरे यूजर ने मोहम्मद कैफ़ के ट्वीट के रिप्लाई में कहा कि, “आपने सही कहा है. हमे सोशल मीडिया जैसे बड़े प्लेटफार्म पर किसी भी धर्म संबंधी बातें बोलने से खुद को बचाना चाहिए. दरअसल इस तरह की बातों का दुष्परिणाम हमारे समाज और उसमे रह रहे लोगों पर पड़ने लगा है.”

मोहम्मद कैफ़ के इस ट्वीट ने कई लोगों का दिल जीत लिया है. तो वहीँ एक और ट्विटर यूजर ने मोहम्मद कैफ़ को जवाब देते हुए कहा कि, “अगर बाकि लोग भी आप की तरह सोचने लगें तो आज लोगों के बीच इस्लाम की जैसी छवि बन गई है उसे सुधारा जा सकता है. ”

जानिए क्या है पूरा मामला

दरअसल पश्चिम बंगाल में इन दिनों छिड़ी हिंसा का कारण है एक फेसबुक पोस्ट. मिली जानकारी के अनुसार फेसबुक पर एक व्यक्ति ने पैगम्बर मुहम्मद के बारे में एक विवादित पोस्ट कर दिया था, जिसके बाद मामले ने धीरे-धीरे तूल पकड़ा और अब हालात ये हो गए हैं किपश्चिम बंगाल में इस मसले ने हिंसा का रूप ले लिया है. इसके बाद लोगों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए सड़कें ब्लॉक कर दी थीं. बढ़ती हिंसा को रोकने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी दागे थे.

हालाँकि अभी तक मिली जानकारी के अनुसार जिस शख्स ने सोशल मीडिया पर यह पोस्ट की थी, उसे पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है. शख्स को कोर्ट के सामने पेश भी किया गया, जिसके बाद उसे बसीरहाट जेल भेज दिया गया है.

Facebook Comments