पाकिस्तान के तमाम कोशिशों के बाद भी इस गुप्त जगह का आखिर पता लग ही गया!

भारत और पाकिस्तान के रिश्ते कभी अच्छे होते है तो कभी बेहद सख्त और कडवाहट से भर जाते है. दरअसल पाकिस्तान को आतंकवादियों का पनाह देने वाला देश माना जाता है. पाकिस्तान एक तरह से अब पाकिस्तानियों के कब्जे में जा चूका है. विश्व भर में होने वाले आतंकवादी घटनाओं के बाद आतकी के तार अधिकतर पाकिस्तान से जुड़ ही जाते है. लेकिन पाकिस्तान परमाणु हथियारों से लैश देश है पर किसी को यह नही पता था कि उसने अपने परमाणु कहा छुपा रखा है. जिसके बल पर पाकिस्तान भारत से लड़ने की बात करता रहता है. लेकिन अब पकिस्तान के परमाणु हथियारों के रखने की जगह का खुलासा हो गया है.

Source

दरअसल पाकिस्तान ने अपने परमाणु हथियारों जखीरा बलूचिस्तान के सुदूर पहाड़ियों के बीच छुपा कर रखा  है. एक अमिरीकी थीक टैंक ने सैटेलाइट से प्राप्त तस्वीरों के जांच के बाद यह दावा किया है. इन तस्वीरो के आधार पर इस संस्था ने दावा किया है कि इस जगह पर पाकिस्तान अपने परमाणु हथियारों को यहाँ छुपाया हो ऐसा हो सकता है.

Source

एक अन्य अमेरिका की एक गैर लाभकारी और गैर सरकारी संस्थान ‘इंस्टीट्यूट फॅार साइंस एंड इंटरनेशनल सेक्युरिटी’ ने बताया कि उपग्रह के चित्रों की जांच करने के बाद पूरी तरह सुरक्षित अंडरग्राउंड परिसरों वाले इस स्थान का पता चला है. उसने एक रिपोर्ट में कहा कि दक्षिण पश्चिम प्रांत में यह अंडरग्राउंड परिसर बैलेस्टिक मिसाइल और परमाणु आयुध भंडारण स्थल के रूप में काम कर सकता है. वैसे इस परिसर का उद्देश्य अब तक सार्वजनिक रुप से उपलब्ध नहीं है.

Source

डेविड अल्ब्राइट, सारा बुरखार्ड, एलिसन लैक और फ्रैंक पैबिन की तैयार इस रिपोर्ट के अनुसार, यह परिसर रणनीतिक चीजों के लिए भंडारण स्थल के रुप में काम आ सकता है. रिपोर्ट के अनुसार इस बात की आशंका जताई जा रही है कि पाकिस्तान इसी जगह पर अपने सभी परमाणु हथियारों को जमीन के नीचे छूपा कर रखा है.

Source

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि भारत और पाकिस्तान के रिश्ते हमेशा घूम कर एक ही स्थिति में आ जाते है वो दशा है तनाव. दरअसल पाकिस्तान और भारत के रिश्ते कई बार सुधारने की कोशिश हुई कई बार भारत ने पकिस्तान के सामने इस तरह का  प्रस्ताव रखा जिससे दोनो देश लड़ाई भूलकर अपने देश की तरक्की में ज्यादा ध्यान दें. लेकिन सब बात आकर आतंकवाद के मुद्दे पर अटक जाती है.

Source

पाकिस्तान कभी भी आतंकवाद को ख़त्म करने की कोशिश नही की और भारत को आतंकवाद कई बड़े जख्म दे चूका है. ऐसे में भारत आतकंवाद खात्मे के बिना पाकिस्तान से कैसे रिश्ते सुधारने की  बात कर सकता है.  भारत में हुआ आतंकवादी हमलें में ज्यादातर पाकिस्तानियों के हाथ  होने के बड़े सबूत भारत ने पाकिस्तान को दिया है. लेकिन पाकिस्तान इन सबूतों कि अपर्याप्त बताकर मानने से इंकार कर दिया है. दरअसल पाकिस्तान अपने यहाँ पनप रहे आतंकवादियों को ख़त्म नही करना चाहता. उन्ही की आड़ लेकर पाकिस्तान लगातार भारत पर हमला करवाता है.

Facebook Comments