पीएम मोदी की इजरायल दौरे पर थी पाकिस्तान की पैनी नज़र, इसके पीछे की वजह का खुलासा करते हुए इस रिपोर्ट ने बताया कि…

यूँ तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इजरायली दौरा अब पूरा हो चुका है, लेकिन पीएम मोदी के इस दौरे ने जितनी सुर्खियाँ बटोरी हैं उतनी शायद ही कीस विदेश दौरे ने बटोरी हो. चलिए देश के ही पक्ष-विपक्ष के नेताओं की पीएम मोदी के इस दौरे पर आई प्रतिक्रिया तो एक बार को फिर भी समझ आती थीं कि आखिर वो ऐसा क्यों कह रहे हैं लेकिन देश और दुनिया की नज़रों में भी इस दौरे ने वो मुकाम हासिल किया जिसने बीते 2 दिनों में शायद ही किसी और खबर को सुर्ख़ियों में रहने की जगह मिली हो. ऐसे में एक देश जो इस दौरे तो बिलकुल भी नहीं पचा पा रहा था वो था पाकिस्तान.

source

जानिए क्या थी पाकिस्तान की बौखलाहट की असली वजह

पीएम मोदी के इजराइल दौरे से पाकिस्तान बौखला गया है उसको अब चिंता सताने लगी है. पाकिस्तान के  मीडिया में लगातार पीएम मोदी के दौरे को कवर किया जा रहा है. केवल पाकिस्तान का मीडिया ही नहीं वहां के रक्षा विशेषज्ञ भी नेतन्याहू और पीएम मोदी की इस मुलाक़ात पर नज़र बनाए हुए हैं. पाकिस्तान के जाने माने अखबार डॉन ने लिखा है कि पीएम मोदी इजराइल जाने वाले प्रथम भारतीय प्रधानमंत्री हैं अखबार में आगे लिखा गया है कि इस मुलाक़ात की ख़ास बात ये है कि पीएम मोदी इजराइल तो जाएंगे लेकिन फिलिपींस नहीं जाएंगे.

source

भारत और इजरायल के बीच का मज़बूत संबंध है चिंता की वजह

भारत और इजराइल के मध्य रिश्ते मजबूत होते जा रहे हैं. इसके साथ ही अरबों डॉलर के रक्षा समझौते भी दोनों देशों के बीच हो रहे हैं. दोनों देशों ने संकल्प किया है कि वो  सुरक्षा, कृषि और ऊर्जा के क्षेत्र में मिलकर काम करेंगे. पीएम मोदी का यह विदेशी दौरा भारत की बदली विदेश नीति की देन है. इस मुलाक़ात को लेकर पाकिस्तानी अखबारों ने लिखा है कि भारत और इजराइल के बीच लगातार मजबूत होते रिश्ते चिंता का विषय हैं. इसके साथ ही कहा गया है कि भारत के इस आक्रामक रवैये को रोकने की जरुरत है.

source

तो ये वजह है जिसके चलते पाकिस्तान ने हर वक़्त ही बनायीं हुयी थी पीएम मोदी के इजराइली दौरे पर अपनी नज़र

पिछले कई दिनों से खबरें आ रही थीं कि पाकिस्तान लगातार ही प्रधानमंत्री के इजरायल दौरे पर अपनी नज़र बनाये बैठा है हालाँकि इसका कोई पुख्ता सबूत तो नहीं था लेकिन वक़्त-बेवक्त पाकिस्तान की बयानबाजियों से ये साफ़ था कि हो ना हो पाकिस्तान की नज़रे एक पल को भी इस दौरे से हटी नहीं थी|

source

मीडिया रिपोर्ट में हुआ खुलासा की आखिर क्यों पीएम मोदी के विदेश दौरे पर है पाकिस्तान की नज़र 

ऐसे में  बुधवार को आये एक मीडिया रिपोर्ट में बताया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऐतिहासिक इजरायल दौरे पर पाकिस्‍तान भी करीब से नजर बनाए हुए है और इसका कारण ये है कि इस मुलाकात की वजह से क्षेत्र में रणनीतिक स्थिरता पर इसके गंभीर परिणाम देखने को मिल सकते हैं। ‘एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍युन’ के अनुसार, अमूमन तौर पर यूँ तो पाकिस्‍तान आधिकारिक रूप से दूसरे देशों के प्रमुखों के द्विपक्षीय दौरे पर टिप्‍पणी नहीं करता है, मगर इस बार पाकिस्तान ने पीएम नरेन्द्र मोदी के दौरे पर करीब से नजर रखी है क्‍योंकि इसका क्षेत्र में रणनीतिक स्थिरता पर गंभीर परिणाम देखने को मिल सकता है।

source

अखबार में इस बात का भी ज़िक्र है कि इजरायल काफ़ी लंबे समय से भारत को हथियार और अन्य रक्षा उत्पादों की आपूर्ति करता रहा है और इन समझौतों को दोनों ही देशों, भारत और इजरायल  ने गुप्त रखा है तो जायज़ है पाकिस्तान को इस बात पर मिर्ची तो लगनी वाजिब ही थी|

पाकिस्तान को समझ नहीं आ रहा कि अब क्या किया जाए

पाकिस्तान में पीएम मोदी के इस इजराइली दौरे को लेकर मन-माने मतलब निकाले जा रहे हैं. पाकिस्तान के एक न्यूज चैनल में बैठे खवर गुमान नाम के शख्स ने कहा कि भारत और इजराइल के बीच पाकिस्तान के खिलाफ बात चल रही है. उसने कहा कि पहले भी ऐसे वाकये आ चुके हैं जब इजराइल के साथ मिलकर भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ साजिश की है और पाकिस्तान के खिलाफ काम किया है. वहीं पाकिस्तान के रक्षा विशेषज्ञ कह रहे हैं कि उन्हें भारत पर नज़र रखने की जरुरत है.

source

पाकिस्तान की उड़ी हुई है नींद

पीएम मोदी इजराइल के दौरे पर हैं तो पाकिस्तान को चिंता सताने लगी है. जब पीएम मोदी अमेरिका गए तब भी पाकिस्तान चिंता में था उसे तब भी लगा था कि भारत अमेरिका से मिलकर उसके खिलाफ साजिश करेगा और अब पीएम मोदी के इजराइल दौरे से भी वो घबराया हुआ है. बात साफ़ है कि पाकिस्तान को पता है कि वो आतंकवाद को शरण देता है और इसीलिए उसे बेवजह की चिंता सताती रहती है.

Facebook Comments