चीन भेजे जाने की बात पर भड़की पाकिस्तानी लड़की ने एक पल में खोल दी पाकिस्तान और चीन की झूठी दोस्ती की पोल और बताया…

अब ये बात जग जाहिर है कि भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज  हर वक्त लोगों की मदद के लिए तैयार रहती हैं, चाहे वो लोग भारतीय हों या पाकिस्तानी. पिछले कुछ दिनों में कई पाकिस्तानी लोगों ने सुषमा स्वराज को ट्वीट करके मदद मांगी थी और सुषमा स्वराज ने बिना कुछ सोचे समय रहते सबकी मदद की है.  हाल ही में एक बार फिर एक ऐसा मामला सामने आया है जब एक पाकिस्तान महिला ने सुषमा स्वराज से ट्वीट करके एक पाकिस्तानी लड़की ने इलाज के लिए भारत आने का वीजा मांगा जिसके जवाब में एक शख्स ने कहा कि चीन चले जाओ, वो तो तुम्हारे दोस्त हैं ना. जिसके बाद…

source

पाकिस्तानी महिला ने ट्वीट करके मांगी मदद..

दरअसल पाकिस्तान की एक लड़की जो इस वक़्त कैंसर से जूझ रही पाकिस्तानी छात्रा फाइजा तनवीर ने भारत आने की गुहार लगायी. फाइजा ने अपने ट्वीटर पर लिखा कि, “सियासतदानों के निकट होंगे तो होंगे चीनी, अवाम को तो हिंदुस्तानी अपने अपने लगते हैं.”

मुंह के कैंसर से जूझ रही पाकिस्तानी लड़की फाइज़ा

जिसपर एक शख्स ने ट्वीट करके फाइजा को सलाह दी  कि जब भारत उसे वीजा नहीं दे रहा तो वह अपने इलाज के लिए चीन क्यों नहीं चली जाती? चीन तो पाकिस्तान का दोस्त देश है ना?

ऐसे में फाइजा ने जवाब में लिखा कि, “आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चीनियों से हमारा कुछ नहीं मिलता है.  ना हमारी भाषा एक है, ना हमारे रीति रिवाज. लेकिन बात करें अगर हिंदुस्तानियों की बोली भाषा से लेकर, उनकी शक्लें भी हमारे जैसी हैं. हिंदुस्तान में रिश्तेदारियां हैं, शादियों ब्याहों में आना जाना है. दोनों मुल्कों में रोटी बेटी के रिश्ते हैं.

source

ख़बरों के मुताबिक लाहौर की 25 साला फाइजा तनवीर को जबड़े का कैंसर है. ऐसे में फाइज़ा अपना इलाज करने के लिए भारत आना चाहती है पर दोनों देशों के बीच तनावपूर्ण बने रिश्ते के चलते उसे वीजा फिलहाल नही मिल पा रहा है. बताया जा रहा है कि फाइजा ने सोशल मीडिया से फोन नंबर ढूंढकर भारत में अनेक पत्रकारों व राजनीतिज्ञों को वीडियो क्लिप भेजें हैं तथा उसने भारत आने के लिए मेडिकल वीजा दिलाए जाने के लिए मदद मांगी है.

source

पाकिस्तानी विदेश मंत्री सरताज द्वारा अपनी ही एक नागरिक के लिए पत्र लिखने में हिचकने पर फाइजा ने लिखा कि पाकिस्तान दी रियाया चों इक बंदी घट्ट वी हो जाएगी तां सरताज अजीज साब नूं कोई फरक नहीं पैंदा. फाइजा ने निराश लफ्जों में कहा कि वे तो पाकिस्तान की रहने वाली हैं. अजीज साहब उसकी हालत पर रहम नहीं कर रहे.

source

कुलभूषण मसले पर फाइज़ा ने कहा कि

वहीँ सवाल जब पाकिस्तान की जेल में कैद कुलभूषण जाधव की मां के वीजे को लेकर उठा तो फाइजा ने कहा कि कुलभूषण जाधव का मामला एक राजनीतिक मामला है. ऐसे में उन्हें इसकी कोई ज्यादा समझ नहीं है. हाँ लेकिन उन्हें इतना पता है कि एक मां अगर अपने बेटे से मिलने आना चाहती है तो उसे आने देना चाहिए.

source

POK के नागरिक ने मांगी इजाज़त तो सुषमा स्वराज ने कहा, इजाज़त की जरुरत नहीं इलाका..

भारत ने बहुत कोशिश की पाकिस्तान के साथ दोस्ती करने की लेकिन पाकिस्तान ने भारत को हर बार धोखा ही दिया. जब भारत ने उससे रिश्ते बेहतर करने की कोशिश की तब-तब उसने भारत पर जंग थोप दी. हालांकि हर बार उसे मुंह की खानी पड़ी लेकिन अगर वो इस तरह के मुर्खतापूर्ण कदम नहीं उठाता तो कई सैनिकों की जानें नहीं जाती. उसकी नापाक हरकतों की वजह से न केवल भारत बल्कि पाकिस्तान के लोगों को भी परेशानी झेलनी पड़ी.

source

कश्मीर मुद्दे पर सुषमा ने दिया बयान 

पाकिस्तान बनने के बाद से ही वहां के हुक्मरानों ने कश्मीर का मुद्दा उछालना शुरू कर दिया. कश्मीर में घुसपैठ भी करवाई और कश्मीर के एक हिस्से पर जबरन अपना अधिकार जमाने लगा. इसके बाद भी उसकी लालसा कम नहीं हुई पाकिस्तान आज तक भी भारत के कश्मीर को लेकर पाकिस्तान के लोगों को मुर्ख बनाता है और उनकी भावनाओं के साथ खेलता है. अब भारत भी पाकिस्तान के रवैये को लेकर आक्रामक रुख अपनाने लगा है, अब भारत ने पाकिस्तान को बड़े भाई की तरह समझाना बंद कर दिया है. अब भारत भी खुलकर अपने हिस्सों को लेकर बात कर रहा है. इसका ही एक नज़ारा हाल ही में देखने को मिला.

दरअसल भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाक के कब्जे वाले कश्मीर (POK) के निवासी को भारत के मेडिकल वीज़ा के लिए सरताज अजीज की चिट्ठी की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया है. सुषमा ने ट्वीट के जरिये ये बात रखी. उन्होंने लिखा POK के व्यक्ति को भारत आने के लिए अनुमति होगी, क्योंकि पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है.

source

ओसामा अली जो कि पाक अधिकृत कश्मीर के रावलकोट में रहते हैं ने अपना इलाज़ दिल्ली में करवाने के लिए अनुमति मांगी. जिसके बाद सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर के कहा कि POK भारत का अभिन्न अंग है और पाकिस्तान ने गैरकानूनी तरीके से इस पर कब्जा किया है. हम उसे वीज़ा दे रहे हैं और किसी प्रकार की चिट्ठी की जरुरत नहीं है. अली के परिवार की तरफ से सिफारिश की गई थी कि मेडिकल वीज़ा के लिए सरताज़ अजीज की सिफारिशी चिट्ठी की अनिवार्यता खत्म की जाए.

 

source

पाकिस्तान की बोलती बंद करने के लिए भारत अपना रहा है कड़ा रुख

आपको बता दें कि कुछ समय पहले ही सुषमा स्वराज ने कहा था कि अजीज ने उनके निजी खत पर कोई संज्ञान नहीं लिया, जिसमें उनके द्वारा कुलभूषण जाधव की मां के लिए पाकिस्तानी वीजा देने की बात कही गई थी. इसके बाद सुषमा स्वराज ने अपनी नाराजगी भी ज़ाहिर की थी.

source

भारत और पाकिस्तान के बीच बहुत लम्बे समय से कश्मीर को लेकर विवाद है. ये बात तो स्पष्ट है कि कश्मीर भारत का ही हिस्सा है और पाकिस्तान उसपर अपना झूठा दावा जताता है. भारत अब तक तो पाकिस्तान को अपना हमशाया समझकर माफ़ कर देता था लेकिन अब पाकिस्तान ने भारत के सब्र के सारे बाँध तोड़ दिए हैं, इसलिए भारत भी अब खुलकर उसके खिलाफ़ आ गया है. पाकिस्तान की बोलती बंद करने के लिए भारत अब आक्रामक रुख अपनाने लगा है. पाकिस्तान आए दिन सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है और भारत भी उसको मुंहतोड़ जवाब दे रहा है. सुषमा स्वराज के ट्वीट से साफ़ जाहिर हो जाता है कि अब भारत पाकिस्तान को चालाकी करने का कोई मौका नहीं देगा.

 

Facebook Comments