सिर्फ जिगर वाले ही इस वीडियो को देखें, 16 किलोमीटर तक एक गर्भवती महिला को वो लोग बांस के डंडे से बाँध…

आज जिस दौर में हम जी रहे हैं उसे “मॉडर्न युग” के नाम से जाना जाता है. हर काम मशीनों से और झट-पट करने की बात हो तो आज के समय में इस बात का शायद ही कोई काट हो. सुख-सुविधाओं से लेस हमारे इस जीवन में शायद ही कोई कमी हो, और हो भी क्यों? आखिर हम इतने आगे जो निकल आयें हैं. इतने आगे जहाँ से पीछे भी देखो तो शायद सिर्फ तरक्की, तकनीकि ही नज़र आएगी, लेकिन क्या वाकई में ये ही हमारे मॉडर्न समाज की पहचान है? क्या वाकई हम सभी देशवासिओं के पास हर वो सुख-सुविधा है जो हमारे पास होनी चाहिए? नहीं, जी हाँ, तो इस बात का जवाब है नहीं.

source

हकीकत में तो हम शहर में रहने वाले लोगों के पास शायद हर आम ज़रूरत की सुख-सुविधा हमारे इर्दगिर्द ही मौजूद है, लेकिन गाँव में?  

दरअसल हमारे इस तरह की बात करने का एक कारण है एक तस्वीर. ये तस्वीर ओडिया से है जहाँ कि स्वास्थ्य विभाग की बदहाली बयां करती इस तस्वीर को देखकर आप भी सोचने पर मजबूर हो जायेंगे कि क्या हम वाकई “मॉडर्न युग” में जी रहे हैं. या ये कोई मिथ्या है?

 

क्या है ऐसा इस तस्वीर में?

ये तस्वीर सोशल मीडिया पर जबसे आई है जमकर शेयर की जा रही है. लोग इस पर अपनी तरह-तरह की प्रतिक्रिया देने से भी नहीं चूक रहे. लेकिन अब जान लीजिये इस तस्वीर में दरअसल है क्या? तो हम आपको बता दें इस तस्वीर में एक गर्भवती महिला है. एक ऐसी गर्भवती महिला जिसे बांस पर लटका कर अस्पताल पहुँचाया जा रहा है.

क्या है पूरा मामला?  

इंसानियत को शर्मसार करने वाली इस तस्वीर में एक गर्भवती महिला को उसके परिवार वाले बांस पर लटका कर अस्पताल ले जा रहे हैं. बताया जा रहा है मामले की जड़ ये है कि ऐसा गर्भवती महिला के परिवार वालों को इसलिए करना पड़ा क्योंकि उनको समय पर अम्बुलेंस नहीं मिल पाई. गर्भवती महिला को अस्पताल पहुँचाना ज़रूरी था ऐसे में परिवार वालों ने उसे बांस के सहारे बांधा और 16 किलोमीटर तक उसी अवस्था में लटकाकर उसे अस्पताल ले गए.

source

अब ज़रा खुद सोचिये ऐसी अवस्था में जहाँ एक महिला को ज्यादा से ज्यादा आराम और सुविधाओं की ज़रूरत होती है ऐसे में उसे बांस के सहारे लटका कर अस्पताल ले जाया जा रहा है. क्या इसे ही कहते हैं “मॉडर्न युग?” कि जहाँ शहर में तो इतनी सुख सुविधा है कि आप बिना हाथ हिलाए पानी पी लें लेकिन गाँव में? गाँव में अस्पताल तक जैसी सुविधा आसानी से मिलना मुनासिब नहीं हो.

source

इस मामले का वीडियो भी आया सामने जिसके बाद..

तस्वीर मानो कम दुःख बयां कर रही थी कि इस मामले का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर आ चुका है. बताया जा रहा है मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर आग की तरह फैला तो प्रशासन ने भी इस मामले की सुध ली. बताया जा रहा है कि ओडिशा के कालाहांडी जिले में लांझीगढ़ में इस गर्भवती महिला को पहले सरकारी एंबुलेंस से अस्‍पताल ले जाया जा रहा था लेकिन..

source

…रास्ते में भारी बारिश के कारण पेड़ गिरा हुआ था.  रास्ते में पेड़ गिरा देख एम्बुलेंस चालक को जहाँ रास्ता साफ़ कर महिला को अस्पताल पहुँचाना चाहिए था वो तो मौका देखते ही फर हो चला जिसके बाद परिवार वालों को भी महिला की नाज़ुक हालत के बव्जूब ऐसा गंभीर कदम उठाना पड़ा.

देखिये वीडियो

इंसानियत को शर्मसार करने वाले इस वीडियो में साफ़ दिखाई दे रहा है कि कैसे सामने कोई रास्ता मिलता ना देख परिजनों ने गर्भवती को अस्‍पताल ले जाने के लिए बांस पर चादर बांधकर महिला को उसमें बैठाया और जिसके बाद वो उसे अस्पताल के लिए ले जा पाए. इस पूरे मामले में सबसे अच्छी बात ये रही कि अस्‍पताल पहुंचने पर महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया.

इस मामले पर जब  सीडीएमओ से बात की गयी तो उन्होंने ने इसपर सफाई देते हुए कहा कि, “हमने सभी सुविधाओं का इंतजाम किया था लेकिन दूरदराज के क्षेत्रों में कनेक्टिविटी खराब होने के कारण लोगों तक पहुंचने में असमर्थ हैं.”

Facebook Comments