जानिए आखिर क्यों राहुल गांधी आनन-फानन में ‘सिर्फ 35 मिनट’ के लिए दिल्ली से लखनऊ भागे !

इन दिनों देश में राजनीतिक अफरा तरफी मची हुई है और कहा जा रहा है कि अमित शाह जिस राज्य में जा रहे हैं वहां से बीजेपी के लिए अच्छी खबर आ रही है, चाहे गुजरात में कांग्रेसी नेताओं का बीजेपी में शामिल होना हो या फिर उत्तर प्रदेश में सपा नेताओं का भाजपा में जाना हो. बिहार में तो अब NDA की सरकार बन ही गयी है. ऐसे में माना जा रहा है कि आगामी लोकसभा चुनाव में उम्मीद है कि फिर से मोदी प्रधानमंत्री बन सकते हैं. इन सबको देखते हुए कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने भी राजनीतिक सरगर्मी बढ़ा दी है और जब भी मौका मिल रहा है, वो राजनीति करना नही छोड़ रहे.

Source

सिर्फ 35 मिनट के लिए दिल्ली से लखनऊ

दरअसल राहुल गाँधी इस वक्त किसी भी मौके को भुनाने से नही छोड़ना चाहते और इसलिए वो दिल्ली से लखनऊ सिर्फ 35 मिनट के लिए गये और फिर वापस चले आये. हम आपको बता दें कि राहुल गाँधी लखनऊ गये तो लेकिन उनके 35 मिनट में ही वापस लौटने की खबर सुर्ख़ियों में हैं.

Source

आखिर ऐसी भी क्या जल्दी थी राहुल गाँधी को कि उन्हें दिल्ली छोड़ लखनऊ जाना पड़ा और फिर उसी दिन वापस दिल्ली भी आ गये. अगर आप पूरी खबर पर नजर डालेंगे तो पता चलेगा कि वोट बैंक की राजनीति के चक्कर में राहुल गाँधी को ये तकलीफ उठानी पड़ी है.

Source

आखिर 35 मिनट के लिए क्यों गये थे राहुल गाँधी

दरअसल मामला किसानों की जमीन अधिग्रहण को लेकर है और राहुल गाँधी के सलाहकारों ने बताया होगा कि ‘किसान बहुत परेशान हैं यहां और आपका आना बहुत जरूरी है और आपके आने से यहां वोट भी प्रभावित हो सकते हैं.’ बस राहुल गाँधी के लिए ये वजह काफी रही होगी, उन्हें दिल्ली से लखनऊ ले जाने के लिए.

Source

राहुल गाँधी लखनऊ एयरपोर्ट से सीधे गोमतीनगर स्थ‍ित नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (NHAI) के ऑफिस गए और वहां उन्होंने NHAI के रीजनल अफसर राजीव अग्रवाल से मिलकर किसानों की समस्याओं पर चर्चा की और उन्हें ज्ञापन भी सौंपा.

Source

NHAI के अफसर ने बताया

NHAI के अफसर राजीव अग्रवाल ने बताया कि ‘राहुल गांधी किसानों के मसले पर मुलाकात करने आये थे और उन्होंने कहा कि “125 किलोमीटर के हाईवे में कुल 400 मीटर की सड़क, और इसे बनाने में करीब 600 लोग प्रभावित हो रहे हैं. इसमें किसी का घर तो किसी का खेत और दुकान शामिल है, इस पर व‍िचार कि‍या जाए”

Source

क्या है पूरा मामला

दरअसल नेशनल हाइवे अथॉरिटी जगदीशपुर के कठौरा में ट्रक लेन तैयार कर रहा है और इस लेन को बनाने में उत्तर प्रदेश स्टेट इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (UPSIDC) की जमीन बीच में आ रही है.  आपको बता दें कि UPSIDC ने यह जमीन किसानों को दे दी थी जिसमें करीब 50 किसान परिवार शामिल हैं. अब मामला किसानों से जुड़ा देख कांग्रेस इसपर हंगामे के मूड में हैं. यहां तक कि राज बब्बर इस मुद्दे पर धरना भी दे चुके हैं. उनकी मांग है कि ट्रक लेन को किसानों का ख्याल रखते हुए आधा किलोमीटर डायवर्ट करके पीछे से तैयार किया जाय.

Source

आपको बता दें कि सुल्तानपुर जिले में ये हाइवे ज‍िस जगह (NH- 233) से बन रहा है, उसमें क‍िसानों की जमीन बीच में आ रही है और कांग्रेस इसी मुद्दे पर किसानों को सपोर्ट करके भाजपा को घेरना चाहती है. इसी लिए राहुल गाँधी आनन फानन में दिल्ली से लखनऊ पहुँच गये और सिर्फ 35 मिनट रहकर वापस भी चले आये. स्थानीय लोगों का कहना है कि इस मुद्दे पर सिर्फ राजनीति हो रही है और कोई किसी का हितैषी नही है, सब अपनी राजनीतिक रोटियां तैयार करने में लगे हुए हैं.

Facebook Comments