अनाथ बच्ची शबाना ने मैसेज कर DM से ईद पर मांगी मदद तो जवाब में प्रशासन ने किया कुछ ऐसा कि…

ईद भाईचारे और खुशियों का त्यौहार है ये लोगों के लिए खुशियाँ लेकर आता है. ईद के दिन सारे मुसलमान एक दूसरे के घर ईद मनाने जाते है, लेकिन वाराणसी की रहने वाली शबाना के साथ ईद पर जो हुआ उसको पढ़कर आप दंग हो जाएंगे. क्योंकि ऐसी कहानी ना आपने कभी सुनी होगी ना कभी पढ़ी होगी. ईद के दिन किसी लड़की के साथ ऐसा भी हो सकता है क्या?  ईद के दिन जब शबाना ने फोन किया तो उसके बाद उसके साथ जो हुआ वो पढ़कर हर कोई हैरान था. जब शबाना के घर अचानक पहुंचे अधिकारियों को देखकर लोगों में भी एकाएक हलचल मच गई.

source

आपको बता दें कि वाराणसी की रहने वाली शबाना के घर पर ईद की कोई तैयारी नहीं थी. शबाना के घर की हालत ऐसी नहीं थी कि वो अपने कपड़े बनवा सकें.  शबाना बहुत परेशान थी रो रही थी तो उसके दिमाग में एक ख्याल आया. उसने  जिले के जिलाधिकारी का नंबर पता किया और उसके बाद उनको  फौरन एक मैसेज किया. उसको नहीं पता था की इस मैसेज के बाद उसके साथ कुछ होगा भी या नहीं. लेकिन शबाना का  मैसेज पढ़ने के बाद जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र को झकझोर कर रख दिया.

source

ईद के एक दिन पहले अपने मोबाइल पर ऐसा मैसेज देखकर जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र ने तुरंत  उप-जिलाधिकारी सदर सुशील कुमार गौड़ को तलब किया. उनको कहा की शबाना के घर नए कपड़े, मिठाइयां और ईद की सेवईयों के पैसे भेजे. ताकि ईद के दिन वो शबाना को ईदी दे सके. इतने अफसरों  को एक साथ अपने घर पर देखकर  शबाना डर गई. लेकिन जैसे ही शबाना को पता चला कि ये सब उसके लिए ईदी लेकर आये है. तो उसकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा. उसको यकीन नहीं हो रहा था कि उसके मैसेज से ये सब हो जाएगा.

Facebook Comments