संदीप शर्मा उर्फ़ आदिल के आतंकी बनने की कहानी किसी फिल्म से कम नही है एक लड़की से प्यार कर बैठा और..

संदीप शर्मा उर्फ़ आदिल, एक ऐसा आतंकवादी जिसे जम्मू-कश्मीर से पकड़ा गया है. इस आतंकवादी के पकड़े जाने के बाद एक पहेली सभी के मन में है कि आखिर ये आतंकी संदीप शर्मा है या आदिल ? लश्कर के लिए एटीएम से पैसा लूटना और हथियार लूटना, चोरी-डकैती जैसे कामों को अंजाम देना इसका प्रमुख काम था. लश्कर-ए-तैयबा ने इसे बकायदा ट्रेनिंग भी दी थी लेकिन ये जिस दिन से J&K पुलिस के हत्थे चढ़ा है कुछ मीडिया चैनल्स इसे ‘हिन्दू आतंकी’ बता रहे हैं और वहीँ सोशल मीडिया पर कुछ इसे आदिल बता रहे हैं. वैसे इस आतंकी का  लोग धर्म क्यों पता कर रहे हैं, इसका तो एक ही धर्म है और वो है हिंसा करना. फ़िलहाल आज हम आपको संदीप उर्फ़ आदिल के बारे में कुछ ऐसी बाते बताने जा रहे हैं जो आपको एकदम फ़िल्मी लगेगी लेकिन है हकीकत.  Sandeep

Source

संदीप कैसे बना आतंकी-एक फ़िल्मी कहानी

संदीप शर्मा उर्फ़ आदिल उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के मुस्तफाबाद पचेंडा का रहने वाला है. मुजफ्फरनगर में वैल्डिंग का काम करने वाला संदीप सिर्फ दसवीं पास है और उसने दसवीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी. उसके घर की हालत कुछ ठीक नही थी और वो नौकरी की तलाश में था. पुलिस पूछताछ में भी संदीप ने कहा कि घर की खराब आर्थिक स्थिति के कारण वो आतंकी बना. शुरुआत में वो पैसे कमाने के लिए एक कोल्ड ड्रिंक की एजेंसी के लिए ऑटो चलाता था फिर बाद में वो अपनी बुआ के लड़के साथ दिल्ली के एक ठेकेदार के सहारे जम्मू गया. कहा जा रहा है जिस ठेकेदार के सहारे संदीप उर्फ़ आदिल जम्मू गया था उसकी खोज जारी है, कहा जा रहा है कि ठेकेदार और कई लोगों को भी जम्मू-कश्मीर भेज चुका है.

Source

ठेकदार ने भेजा जम्मू

संदीप के भाई प्रवीण कुमार शर्मा ने पुलिस को बताया कि वैल्डिंग का काम करने  के लिए संदीप और उसका बुआ का लड़का जम्मू-कश्मीर गए थे और उन्हें दिल्ली के एक ठेकेदार ने भेजा था. करीब सात महीने पहले जम्मू-कश्मीर से संदीप का फोन आया था, उसने बताया था कि उसकी एक ठेकेदार के पास उसकी नौकरी लग गयी है और उसे दस-बारह हजार रुपए मिलते हैं. यह कॉल उसने अपने मकान मालिक के नंबर से किया था. ठेकेदार के बारे में संदीप के भाई प्रवीण ने बताया कि “वह दिल्ली के खजूरी का रहने वाला है. ठेकेदार को मेरी बुआ का लड़का अच्छे से जानता है. उसने ही ठेकेदार से मेरे भाई को मिलवाया था.

Source

टीवी पर देखा कि मेरे भाई ने धर्म बदल लिया है

प्रवीण से पुलिस पूछताछ होने पर उसने बताया कि, ‘ढाई साल पहले संदीप बुआ के लड़के के साथ वेल्डिंग का काम करने के लिए जम्मू-कश्मीर गया था. उस वक्त उसने बताया था कि यहां पॉवर ग्रिड का काम चल रहा है, और मैं वहीं पर काम कर रहा हूं. शुरुआत के छह महीने तक उसका फोन आता रहा लेकिन पिछले डेढ़ साल से न तो उसका कुछ पता है और न ही उसका कोई फोन आया. उसके आतंकी बनने की खबर मैंने मैंने टीवी पर देखी उसने धर्म परिवर्तन कर लिया.’

Source

घरवालों ने कहा गोली मार दो

संदीप शर्मा उर्फ़ आदिल के गिरफ्तार होने के बाद उसके घर वालों ने उससे मिलने के लिए साफ इंकार कर दिया. आतंकी के गिरफ्तार होने के बाद उसके परिजन पूरी तरह से सदमे में हैं. सदमा कुछ इस तरह से था कि संदीप के घर मातम छाया हुआ है. उसकी मां किसी से भी नहीं मिल रही हैं. हालत ये है कि संदीप आतंकी है ये जानकर मोहल्ले वालों ने भी उसके परिवार वालों से दूरी बना ली है. संदीप शर्मा उर्फ़ आदिल पुलिस की गिरफ्त में हैं और उससे पूछताछ हो रही है लेकिन संदीप के भाई प्रवीण शर्मा (जोकि हरिद्वार में टैक्सी चलाता है) ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि ‘हमे शर्म आती है उसे अपना भाई कहते हुए और अगर उसने ऐसा घिनौना काम किया है तो सरकार उसे गोली मार दे. हमारा परिवार इस पर कोई आपत्ति नहीं करेगा. उसके काम देश के दुश्मनों जैसे हैं और देश का दुश्मन हमारा भाई कभी नहीं हो सकता.’

Source

एक लड़की के प्यार में पड़कर अपनाया इस्लाम

जनसत्ता में छपी खबर की माने तो संदीप शर्मा से आदिल बने इस आतंकी से जब ATS ने पूछताछ की तो काफी सारी ऐसी बातें सामने आई जो काफी दिलचस्प थी. दरअसल काम और बड़ा आदमी बनने की चाह में संदीप जम्मू तो पहुंच गया लेकिन वहां उसे एक लड़की से प्यार हो गया. ये लड़की एक रिटायर इंस्पेक्टर की बेटी थी और संदीप इससे प्यार करने लगा, इसका प्यार कुछ ऐसे परवान चढ़ा कि उस लड़की की वजह से उसने इस्लाम धर्म अपना लिया. संदीप ने इस्लाम तो अपना लिया और अपना नाम आदिल रख लिया लेकिन इस प्यार में भी वो फेल हो गया और उस लड़की से उसकी शादी नहीं हो पाई। एटीएस जम्मू-कश्मीर पुलिस की मदद से अब लड़की के बारे में भी जानकारी जुटाने की कोशिश में है।

Facebook Comments