मेनका और वरुण गाँधी के अलावा भी संजय गाँधी का एक परिवार है? जिसे इंदिरा गाँधी ने दुनिया से अबतक छुपाये रखा, लेकिन अब…

भारत की राजनीति में एक परिवार हमेशा से ऐसा रहा है जिनका विवादों से चोली-दामन का साथ रहा है तो वो हैं गाँधी परिवार. आप खुद इस परिवार का इतिहास उठा कर देख लीजिये, जितने इनके “काम” नहीं हैं उससे ज्यादा तो इनके “कारनामे” हैं. ऐसा ही गाँधी परिवार का अब एक और किस्सा दुनिया के सामने आ रहा है. हालाँकि हम अभी ये तो नहीं कह सकते कि इस मामले में कौन सही है कौन नहीं लेकिन गाँधी परिवार पर जिस तरह से इस बार इल्ज़ाम लगाये जा रहे हैं उन्हें देखकर शायद अनदेखा भी नहीं किया जा सकता. गाँधी परिवार से हालिया जुड़ा ये मामला है संजय गाँधी की उस बेटी का जो अब अचानक से दुनिया के सामने आई है और कुछ ऐसे दावे पेश किये हैं जिन्हें सुनकर आप भी असमंजस में पड़ सकते हैं.

source

संजय गाँधी की बेटी आई दुनिया के सामने 

ये बात तो सभी को पता है कि बॉलीवुड ने ‘आपातकाल’ के मुद्दे पर एक फिल्म बनायीं है जिसका नाम है “इंदु सरकार”. जहाँ लोग उम्मीद कर रहे थे कि इस फिल्म से लोगों को गाँधी परिवार से जुड़े कई राज़ जानने मिलेंगे वहीँ इस फिल्म से पहले ही खुद को संजय गाँधी की बेटी बताती हुई एक लड़की सामने आई है जो अपना नाम प्रिया पाल सिंह बता रही है. प्रिया की बात में कितना सच है ये तो नहीं कहा जा सकता हाँ लेकिन प्रिया ने कुछ ऐसे दावे किये हैं जिन्हें सुनकर आपको भी गहरा झटका लग सकता है.

source

प्रिया पाल सिंह का वो दावा जिसे सुनकर आप भी रह जायेंगे हैरान

ये बात तो जायज़ है कि इस तरह से किसी भी दावो पर यकीन करना किसी के लिए भी आसान नहीं होगा. हालाँकि खुद को संजय की बेटी बताने वाले प्रिया ने अपने दावों को पुख्ता करने के लिए ये तक कह डाला है कि, “अगर लोगों को उनपर भरोसा नहीं है तो वो उनका DNA टेस्ट करवा सकते हैं, जिससे कि दूध-का-दूध, और पानी-का-पानी हो सके, और साथ ही उनको उनकी खोयी हुई पहचान भी मिल जाये.

source

प्रिया का दावा नंबर 2: इंद्र कुमार गुजराल को पहले से पता था सबकुछ 

डीएनए टेस्ट का दावा करने के बाद प्रिया ने एक और ऐसा दांव खेला है जिसके बाद शायद उन्हें झूठा साबित करना नामुमकिन हो जाये. दरअसल अपने दूसरे दावे में प्रिया ने बताया कि, “संजय गाँधी और प्रिया की माँ, जो एक समय में एक दूसरे के प्यार में पड़े थे, उन्होंने मंदिर में शादी की थी. साथ ही प्रिया ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल को इस बात की पूरी जानकारी थी. प्रिया के बयानों को सच माने तो इंद्र कुमार गुजराल प्रिया की माँ और संजय गाँधी के रिश्ते के बारे में सब जानते थे.

source

प्रिया का दावा नंबर 3: प्रिया की माँ को दिल्ली छोड़ने के लिए किया गया मजबूर

अपने बयानों से इनदिनों राजनीति में अच्छी खासी हलचल मचाने वाली प्रिया ने एक प्रेस कांफ्रेस में बताया कि उन्होंने जो दस्तावेज़ इकट्ठे किये हैं उनसे ये तो साबित होता है कि उनके पिता संजय गाँधी हैं लेकिन उनकी माँ की कोई खोज-खबर नहीं है. प्रिया ने बताया कि प्रिया के जन्म के बाद उनकी माँ को मजबूर किया गया कि वो किसी भी हालत में दिल्ली छोड़ दें. उसके बाद प्रिया को पाल दंपति ने गोद लिया और उनको पाला.

source

प्रिया का तीसरा दाव, सर्व धर्म संस्था के सुशील गोस्वामी महाराज को साथ लायीं थी प्रिया जिन्होंने कहा…

दावा बड़ा था तो प्रिया ने इसे सिद्ध करने के लिए हर वो काम किया जो लोगों को यकीन दिला दें कि वाकई प्रिया के दावों में दम तो है. इस प्रेस कांफ्रेस में प्रिया अकेली नहीं थीं. वो अपने साथ अपनी बात रखने के लिए सर्व धर्म संस्था के सुशील गोस्वामी महाराज को साथ लेकर आयीं थीं. जिन्होंने भी माना कि ऐसा हो सकता है कि प्रिया संजय गाँधी की ही बेटी हों. प्रिया ने बताया कि उनके माता-पिता (रॉय दंपति) को हमेशा ये लगता रहा कि कहीं दिल्ली आने से प्रिया को कोई खतरा ना हो जाये इसलिए उन्होंने प्रिया को कभी दिल्ली नहीं आने दिया था.

source

प्रिया के पक्ष में चौथा दावा, मेनका से पहले संजय का किसी लड़की से अफेयर था 

सुशील गोस्वामी बताते हैं कि वो संजय गाँधी के अच्छे मित्र हुआ करते थे. इस लिहाज़ से उन्होंने बताया कि संजय गाँधी मेनका से शादी से पहले एक लड़की के साथ प्यार में थे तो ऐसा संभव है कि प्रिया उन्ही की बेटी हों. साथ ही यहाँ ये बात भी गौर करने वाली है कि प्रिया के नाक-नक्श हुबहू संजय गांधी व उनके परिवार से मिलता है जिसे संयोग मान कर टाला नहीं जा सकता है.

source

प्रिया की माँ के ज़िक्र पर सुशील गोस्वामी चुप्पी साध गए

खुद को संजय गाँधी का घनिष्ठ मित्र बताने वाले गोस्वामी से जब प्रिया की माँ के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने चुप्पी साध ली. उन्होंने कहा उस वक़्त संजय गाँधी से मिलने तकरीबन रोज़ ही अलग-अलग और कई लड़कियां आया करती थीं. अब इनमे से प्रिया की माँ कौन थी ये कह पाना मुश्किल है. हालाँकि प्रिया इस बात पर अडिग थीं कि संजय गाँधी ने 21 वर्ष की आयु में उनकी माँ से मंदिर में शादी की थी. प्रिया का जन्म 21 दिसम्बर 1968 को हुआ था. जन्म के बाद प्रिया का नाम प्रियदर्शनी रखा गया था हालाँकि राजनीतिक कारणों के चलते उन्हें बलदेव सिंह पाल व उनकी पत्नी शीला सिंह पाल को देखभाल के लिए सौंप दिया गया.

source

प्रिया बताती हैं कि वर्ष 2010 में वो जब जबरन दिल्ली आईं तो गुजराल परिवार ने उन्हें फिरसे तुंरत ही दिल्ली से वापस चले जाने की सलाह दी. लेकिन इस बार प्रिया अपने माँ-बाप के नाम जानने पर तुली थीं. ऐसे में बार-बार पूछने पर विमला गुजराल ने उन्हें बताया कि उनके असली पिता संजय गांधी हैं लेकिन उन्होंने मां का नाम बताने से इंकार कर दिया।

source

प्रिया को इसलिए भेजा था मुंबई क्योंकि…

प्रिया ने बताया कि उन्हें मुंबई भेजने का एक कारण यह था कि जनसंघ इंद्रा गांधी के पीछे पड़ा था और यदि ऐसे वक़्त में उन्हें प्रिया का पता चल जाता तो वो इंदिरा को ब्लैकमेल कर सकते थे.  यही कारण है कि उनके वर्तमान माता-पिता ने हमेशा ही उन्हें कुछ नहीं बताया और हमेशा छिपा कर रखा.

source

नहीं चाहिए संजय गाँधी का पैसा बल्कि..

सालों बाद दुनिया के सामने आयीं प्रिया बताती हैं कि उन्हें संजय गाँधी का पैसा नहीं चाहिए उन्हें कुछ चाहिए तो उनका नाम. प्रिया सिर्फ अपनी खोयी हुई शख्सियत पाने का हवाला देते हुए बताती हैं कि अब बहुत हुआ. अब वो चुप नहीं रहेंगी. बता दें कि.  प्रिया ने गोद लेने की प्रक्रिया पर भी सवाल उठाते हुए कहा उन्हें दो संस्थाओं के जरिए पाल दंपति को गोद दिया गया और दोनों में ही अलग-अलग  दस्तावेज हैं. यही कारण है कि उन्होंने तीस हजारी अदालत में इस मुद्दे को लेकर मुकदमा भी दायर किया है.

source

 इससे पहले भी प्रिया कर चुकी हैं ये खुलासा 

ये बात आज की माहि है. बता दें अभी कुछ महीनों पहले भी प्रिया ने अपने फेसबुक अकाउंट पर एक पोस्ट कर सबको चौंका दिया था जहाँ उन्होंने अपने और गाँधी परिवार के रिश्तों का ज़िक्र किया था. इस पोस्ट में अपनी माँ और संजय गाँधी के रिश्तों का ज़िक्र करते हुए प्रिया ने कई बातें लिखीं थी.

अब किस वजह से दुनिया के सामने आने को हुई हैं प्रिया मजबूर?

इस तरह अचानक से कई सालों के बाद दुनिया के सामने आने का जब प्रिया से कारण पूछा गया तो उन्होंने बताया कि दरअसल, “28 जुलाई को रिलीज हो रही फिल्म इंदु सरकार में उनके स्वर्गीय पिता संजय गांधी को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है जिससे मजबूर होकर वह खुलकर सामने आ गई हैं.”

Facebook Comments