पहले सीधे मुंह बात करने को भी राजी नही थे लेकिन मोदी के अमेरिका से लौटते ही ऐसा क्या हो गया है कि मोदी की तारीफ करते नही थक रहे उद्धव ठाकरे

बीते दिनों में शिवसेना और बीजेपी के बड़े नेताओं के बीच कुछ अनबन की ख़बरें सुनाई दे रही थी और माना जा रहा था कि शिवसेना मोदी के खिलाफ जा रही है. NDA ने राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को घोषित किया तो एक बार शिवसेना ने मुंह बनाया कि हम जाति के आधार पर सपोर्ट नही करेंगे लेकिन फिर बाद में अमित शाह के एक फोन करने के बाद वो मान गये. दोनों पार्टियों के बीच पैदा हुई ये खटास सबके सामने खुलकर आने लगी थी. इस बीच मोदी तीन देशों के दौरे पर गये जिसके दौरान अमेरिका भी जाना हुआ और वहां ट्रम्प और मोदी के बीच दोस्ती को देखकर भारत में मोदी की काफी प्रशंसा हुई खासकर शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में खुलकर मोदी की तारीफ की, लेकिन इन दिनों शिवसेना पीएम मोदी से कुछ इस तरह से खुश हैं कि तारीफ़ रुक ही नही रही है और जब भी मौका मिलता है, प्रधानमंत्री की तारीफ करने लगते हैं.

Source

पीएम मोदी की तारीफ किये बिना नही रह सकी शिवसेना:

आपको बता दें कि कभी पीएम मोदी की हर चाल पर नुस्ख निकालने वाले उद्धव ठाकरे की पार्टी शिवसेना अब मोदी की  तारीफों के पुल बांध रही हैं. शिवसेना ने गोरक्षा करने वालों पर मोदी द्वारा गये बयान पर कहा कि “इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री ने जो रुख अपनाया है उसका हम स्वागत करते हैं. गोरक्षा के नाम पर किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने की अनुमति नहीं है. यह हिंदुत्व के सिद्धांत के खिलाफ है लोगों की हत्या करना. सामना समाचार पत्र में कहा गया है कि हम हिंदुत्व को स्पष्ट रूप से परिभाषित करने के लिए उनका (मोदी) धन्यवाद करते हैं.”

Source

गोरक्षकों पर क्या कहा था प्रधानमंत्री मोदी ने:

महात्मा गांधी के साबरमती की शताब्दी समारोह के मौके पर मोदी ने यहां एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि “गाय की रक्षा करने के नाम नाम पर लोगों की हत्या स्वीकार नहीं है और चाहे कोई भी हो कानून अपने हाथ में लेने का अधिकार किसी को नहीं है. गोभक्ति के नाम पर हिंसा करना राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के सिद्धांतों के खिलाफ है. इस तरह के कृत्यों से कुछ हासिल नहीं होगा.”

Source

ऐसा पहली बार नही कहा है प्रधानमंत्री ने:

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था “हिंसा करने से कभी भी किसी समस्या का हल नहीं निकला और न ही निकलेगा. एक समाज के तौर पर हमारे यहां हिंसा के लिए कोई स्थान नहीं है.” प्रधानमंत्री ने पिछले साल अगस्त में भी गोरक्षकों को लेकर काफी सख्त बयान उस वक्त दिया था जब गुजरात में कुछ दलितों को कथित गोरक्षकों द्वारा बेरहमी से पीटा गया था.

Source

इससे पहले शिवसेना ने मोदी के लिए कहा था कि…

आपको बता दें कि इससे पहले जब मोदी अमेरिकी दौरे पर गये थे तो शिवसेना ने कहा था कि विदेशों में पीएम मोदी का जिस तरह से स्वागत किया जाता है उसे देखकर सभी देशवासियों का सीना गर्व से चौड़ा हो जाता है, पीएम मोदी ने दुनिया में हिन्दुस्तान की तस्वीर बदलने की कोशिश की है. सामना में लिखा गया था कि मोदी को अमेरिका से सख्त सन्देश देना चाहिए. आतंकवाद पर अमेरिका के दोहरी नीति को लेकर भी हमला बोला गया है. शिवसेना ने कहा कि अमेरिका आतंकवाद के खिलाफ भारत का साथ देने की बात तो करता है,लेकिन अमेरिका ने भारत का कितना साथ दिया इस बारे में हर कोई जानता है.

Facebook Comments